वालमार्ट ने भारत में अपने व्यवसायिक रणनीति में किया बदलाव, 50 शीर्ष अधिकारियों को हटाया

नई दिल्ली : भरता में ई कॉमर्स व्यवसाय में आने वाली चुनौतियों को देखते हुए दुनिया की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी और घरेलू ई-कॉमर्स दिग्गज फ्लिपकार्ट पर नियंत्रण वाली वालमार्ट आईएनसी ने अपने भारतीय कारोबार से जुड़े 50 शीर्ष अधिकारियों को नौकरी से हटा दिया है। कंपनी का कहना है कि भारत में शीर्ष स्तर पर पुनर्गठन के मद्दे नजर यह कदम उठाया गया है।

अमेजन के सीईओ 15 जनवरी को करेंगे भारत यात्रा, देशभर के व्यापारी करेंगे विरोध

सूत्रों ने बताया कि मुख्य रूप से कंपनी के रीयल एस्टेट डिविजन से अधिकारियों की छंटनी हुई है क्योंकि कंपनी के होलसेल मॉडल का विकास बहुत ठोस तरीके से नहीं हो सका है और अब कंपनी भारत में फिजिकल स्टोर की जगह ई-कॉमर्स पर ध्यान दे रही है। आपको बता दें कि केंद्र सरकार ई कॉमर्स को लेकर नीतिगत बदलाव करने जा रही है, जिसके बाद इस क्षेत्र में काम करने वाले वैश्विक प्लेयर्स के लिए चुनौतियां बढने वाली है। जानकारों का कहना है कि इसी के मद्देनजर वालमार्ट नीतियों में बदलाव करने जा रही है।

ऑनलाइन कारोबार मे सरकर करेगी नीतिगत बदलव, विदेशी कंपनियों की बढ़ेंगी मुश्किलें

दरअसल वालमार्ट को भारत के ई-कॉमर्स बाजार से बहुत उम्मीदें हैं और इसी को ध्यान में रखते हुए 2018 में उसने 16 अरब डॉलर में फ्लिपकार्ट की बहुलांश हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया था। यह सबसे बड़े वैश्विक अधिग्रहणों में से एक है। वालमार्ट नये होलसेल स्टोर खोलने की गति धीमी कर सकती है, क्योंकि उसका ध्यान बिजनेस टू बिजनेस और रिटेल ई कॉमर्स के जरिए बिक्री बढ़ाने पर है। कुछ अधिकारियों को पिछले सप्ताह पद से हटा दिया गया और कुछ को आज पद से हटाया जा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माता पिता के साथ हुए नस्ली भेदभाव की बात करते रो पड़े होल्डिंग

साउथम्पटन : वेस्टइंडीज के अपने जमाने के दिग्गज गेंदबाज माइकल होल्डिंग नस्लवाद पर दमदार भाषण देने के एक दिन बाद सीधे प्रसारण के दौरान अपने आगे पढ़ें »

शाहरुख ने मुझे गंभीर जैसी आजादी नहीं दी : गांगुली

नयी दिल्‍ली : मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के को-ओनर शाहरुख खान को लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर