वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम लिस्ट में भारत 10 पायदान फिसला, इस क्षेत्र में है सबसे खराब प्रदर्शन

नई दिल्ली : भारत वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की कॉम्पिटिटिव इकोनॉमी लिस्ट में 10 पायदान पीछे चला गया है। इस लिस्ट में भारत का स्थान 58 वां था, जो अब 68 वां हो गया है। लिस्ट में भारत की रैंकिंग में गिरावट कई दूसरे देशों की अर्थव्यवस्था में सुधार के कारण आई है। इस लिस्ट में अमेरिका भी फिसल गया है और अमेरिका के स्थान पर सिंगापुर आ गया है। अमेरिका की रेंकिंग में गिरावट का मुख्य कारण ट्रेड वॉर बताया जा रहा है।

लिस्ट जारी करते हुए वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने कहा है कि भारत अभी भी आर्थिक स्थिरता में अच्छे स्तर पर है और यहां की इकोनॉमी में काफी गहराई है। साथ ही फोरम ने यह भी कहा कि भारत का बैंकिंग सेक्टर बैड लोन के संकट से गुजर रहा है। कॉरपोरेट गवर्नेंस में भारत 15 वें स्थान पर आया है और वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने शेयरहोल्डर गवर्नेंस के मामले में भारत को दूसरे स्थान पर और मार्केट साइस के मामले में तीसरे स्थान पर रखा है।

इसके अलावा नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में भी भारत को तीसरे स्थान पर रखा गया है। भारत का स्थान स्वस्थ जीवन प्रत्याशा के मामले में काफी निराशाजनक है। इस इंडेक्स के लिए 141 देशों का सर्वे हुआ, जिसमे भारत का स्थान 109 वां है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

लैंगिक समानता और महिलाओं के सम्मान की शुरुआत घर से होनी चाह‌िए-स्मृति ईरानी

नई दिल्ली : देशभर में दुष्कर्म की घटनाओं को लेकर आक्रोश का माहौल है। हाल ही में पहले हैदराबाद और फिर उन्नाव में युवतियों के आगे पढ़ें »

उन्नाव पीड़िता के परिवार से मिलीं प्रियंका, राहुल ने देश को बताया दुनिया का रेप कैपिटल

नई दिल्ली : उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद उत्तर प्रदेश में सियासी हलचल तेज हो गई है। एक ओर शनिवार को समाजवादी पार्टी आगे पढ़ें »

ऊपर