लॉकडाउन 4 में नयी स्ट्रेटेजी के साथ उतरेंगे ज्वेलर्स

सन्मार्ग संवाददाता,कोलकाता : लॉकडाउन के तीसरे चरण के अंत तक मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ज्वेलरी उद्योग को खोलने के संकेत दिये हैं। ऐसे में क्या स्ट्रेटेजी बनायी है कोलकाता के जाने माने ज्वेलरी जगत से जुड़े व्यवसायियों ने। हालांकि ये सब कुछ ग्राहकों व कर्मियों की सुरक्षा को लेकर है। इनमें ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए कोई ऑफर आदि के बारे में अब तक किसी ने भी कुछ तय नहीं किया है। पेश है बातचीत के प्रमुख अंश :-
1. सावनसुखा ज्वेलर्स के एमडी सिद्धार्थ सावनसुखा ने बताया कि हमारी स्ट्रेटेजी पूरी तरह से तैयार है। हम अपने सभी स्टोरों पर यह सुनिश्चित करेंगे कि जो भी ग्राहक आ रहा है, उसे कोई परेशानी न हो। इसके लिए हमने एक ड्राफ्ट बना रखा है अब अपने कर्मियों को समझाना है। हम अपने स्टोर में पहले 20 से 30 फीसदी कर्मियों के साथ काम करेंगे। हमारी रणनीति तैयार है, यह समय रण का है तो नीति के अनुसार काम करेंगे। हम मानसिक तौर पर पूरी तरह से तैयार है अब इसे बस लागू करना है। कर्मियों को ट्रेनिंग देने के बाद शहर के पांचों स्टोर में इसे लागू कर देंगे। देखते हैं किन नियमों के साथ सरकार स्टोर खोलने की अनुमति दे रही हैं, इन सभी सुरक्षा के मापदंडों को पुरा किया जाएगा।
2. पी.सी. चन्द्रा ज्वेलर्स के एमडी उदय कुमार चन्द्रा ने बताया कि हमने बंगाल तथा त्रिपुरा स्थित 6 स्टोर्स खोले हैं। इनमें बांकुड़ा, पुरुलिया, दुर्गापुर (सिटी सेन्टर), कटवा, बालुरघाट तथा अगरतल्ला हैं। इस दौरान सुरक्षा के लिए सभी आवश्यक कदम उठाये गये हैं। स्टोर में आने वाले सभी लोगों का थर्मल स्कैनर से चेकिंग हो रहा है। सभी इंट्री प्वाइंट पर वाशबेसिन, इंट्री तथा एक्जिट गेट पर हैंड सेनिटाइजर, मास्क तथा ग्लब्स का इस्तेमाल आदि को मैनेडेटरी रखा गया है। साथ ही सोशल डिस्टें​सिंग को मानकर आगे बढ़ा जा रहा है। देश में स्वास्थ्य, अर्थव्यवस्था, जाॅब सिक्यो​रिटी आदि पर कंपनी अपने कर्मियों तथ कारीगरों के साथ खड़ी है। आशा है जल्द ही सब कुछ पटरी पर आ जाएगा।
3. आरआर अग्रवाल ज्वेलर्स के डायरेक्टर रतनलाल अग्रवाल ने बताया कि अब जब भी शोरूम खुलेंगी तो तीन चीजों का खास ध्यान रखना होगा। ये हैं मास्क, ग्लब्स तथा सोशल डिस्टेंसिंग। उनका कहना है सब कुछ सेट करने में कम से कम सप्ताह या 10 दिन का समय लगेगा। जब तक पूरे कर्मचारी न आने लगे तब तक कुछ कहा नहीं जा सकता। सोना उद्योग में सिक्योरिटी काफी अहम है, इसलिए जब तक कि 50 फीसदी ट्रैफिक शुरू नहीं हो जाते, थोड़ा मुश्किल होगा। सबकुछ सामान्य होने में कम से कम 6 महीने लगेंगे। इस दौरान मास्क, ग्लब्स तथा सेनिटाइजर आदि का इस्तेमाल सभी को करना है तथा शोरूम में भी सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर रखनी होगी।
4. दीवानसन्स ज्वेलर्स प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर बिमल दीवान ने बताया कि कोरोना ने काफी कुछ बदल दिया है। पहले और अब में काफी अंतर है। शोरूम में प्रवेश करने वाले सभी लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। बिना मास्क, बिना ग्लब्स के शो रूम में प्रवेश नहीं किया जा सकेगा। ग्राहकों की सुरक्षा हमारी पहली प्राथमिकता होगी। पूरी तैयारी कर ली गयी है। इसे शोरूम के खुलने के बाद अप्लाई किया जाएगा।
5 बी सी सेन ज्वेलर्स के डायरेक्टर सुबीर सेन ने बताया कि हम अभी इंतजार कर रहे हैं। जैसा निर्देश राज्य सरकार देगी, वैसा किया जाएगा। अभी तक तो ज्वेलरी शोरूम खोलने के लिए कोई आर्डर नहीं आया है। किन शर्तों के साथ इन्हें खोलना हैं, क्या करना होगा आदि के बाद रणनीति तैयार होगी। बाकी तो कोरोना से बचने के लिए सभी उपायों का अनुसरण किया जाएगा। इनमें सोशल डिस्टेंसिंग सहित अन्य उपाय शामिल हैं।
6. तनिष्क ज्वेलरी के रीजनल बिजनेस मैनेजर अनिर्बान बनर्जी ने कहा कि हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता ग्राहकों की सेफ्टी है। देश के अन्य हिस्सों में धीरे-धीरे शो रूम खुल रहे हैं लेकिन कोलकाता में फिलहाल लॉकडाउन के कारण बंद हैं। जैसे सरकार से शो रूमों को खोलने की अनुमति मिलेगी, इसके बाद सभी सुरक्षा के उपायों का इस्तेमाल करके ही शोरूम खोला जाएगा। जब ग्राहक तनिष्क में आये तो उन्हें लगाना चाहिए कि वे सुरक्षित स्थान पर आये हैं। इस तरह की व्यवस्था रखी जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

यूएस ओपन में भाग लेना संदिग्ध : जोकोविच

बेलग्राद : अपने एड्रिया टूर के दौरान कोरोना वायरस से संक्रमित हुए विश्व के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने अपनी आलोचना आगे पढ़ें »

ओलंपिक : प्रत्येक राज्य से एक-एक खेल चुनने को कहा गया है : रीजीजू

नयी दिल्ली : खेल मंत्री किरेन रीजिजू ने बुधवार को कहा कि सरकार ने ओलंपिक में ज्यादा से ज्यादा पदक हासिल करने की मुहिम के आगे पढ़ें »

ऊपर