रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप ने आज 9.5 लाख करोड़ रुपये के स्तर को छूआ

नई दिल्ली : रिलायंस इंडस्ट्रीज के मार्केट कैप ने आज 9.5 लाख करोड़ रुपये के स्तर को छू लिया है और मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज इस स्तर को छूने वाली पहली भारतीय कंपनी है। शेयर बाजार में मंगलवार को कंपनी के शेयर में 3.4 फीसद की तेजी आई, जिसके बाद रिलायंस का शेयर आज रिकॉर्ड स्तर 1,506.75 पर पहुंच गया। इससे पहले पिछले महीने आरआईएल के मार्केट कैप ने 9 लाख करोड़ का आंकड़ा छुआ था।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने पिछले महीने नई सब्सीडरी शुरु करने की घोषणा की है और कहा है कि इस सब्सीडरी में डिजिटल इनिशिएटिव और ऐप बिजनेस आएगा। कंपनी की इसके लिए 1.08 लाख करोड़ इन्वेस्ट करने की योजना है। माना जा रहा है कि यह सबसे ज्यादा डिजिटल सेवाएं देने वाली कंपनी होगी और यह एजुकेशन, हेल्थकेयर और टेक्नोलॉजी सेक्टर में सर्विसेज देने के साथ ही नई पीढ़ी की जरूरतों को पूरा करेगी। इस नई एंटिटी में एआई और ब्लॉकचेन भी शामिल होगी। बैंक ऑफ अमेरिका के मेरिल लिंच ने एक अनुमान में कहा कि आरआईएल अगले दो साल में 200 अरब डॉलर की कंपनी बन सकती है। आरआईएल अपने नए कॉमर्स वेंचर, डिजिटल वेंचर और ब्रॉडबैंक ऑपरेशन के जरिए 200 अरब डॉलर की कंपनी बन सकती है।

इंट्रा डे ट्रेडिंग के अनुसार रिलांयस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप सबसे ज्यादा 9.55 लाख करोड़ रुपये, दूसरे नंबर पर टीसीएस का मार्केट कैप 7.91 लाख करोड़ रुपये, तीसरे नंबर पर एचडीएफसी बैंक का मार्केट कैप 6.95 लाख करोड़ रुपये, चौथे नंबर पर हिंदुस्तान यूनीलीवर का मार्केट कैप 4.42 लाख करोड़ रुपये और पांचवें नंबर पर एचडीएफसी का मार्केट कैप 3.82 लाख करोड़ रुपये बना हुआ था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड-19 : रीजिजू ने खिलाड़ियों को व्यस्त रखने की पहल की समीक्षा की

नयी दिल्ली : खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने कोविड-19 महामारी के कारण 21 दिन के लॉकडाउन (राष्ट्रव्यापी बंद) के मद्देनजर मंत्रालय और भारतीय खेल प्राधिकरण आगे पढ़ें »

प्रतिभा तलाशना मेरा काम था, युवा विराट कोहली में गजब की प्रतिभा थी : वेंगसरकर

नयी दिल्ली : दिलीप वेंगसरकर को प्रतिभाओं को तलाशने के मामले में भारत के सबसे अच्छे चयनकर्ताओं में से एक माना जाता है जिन्होंने पहली आगे पढ़ें »

ऊपर