रत्न-आभूषण में वैश्विक हब बनेगा बंगाल

बंगाल में दो और कॉमन फेसिलिटी सेंटर बनाने को वित्त मंत्री की हरी झंडी

कोलकाताः बंगाल जेम्स और ज्वेलरी के मामले में पूरी दुनिया का हब बनेगा। इसकी नींव रखते हुए राज्य के वित्त मंत्री अमित मित्रा ने दो और कॉमन फेसिलिटी सेंटर (सीएफसी) बनाने को हरी झंडी दे दी। पहला सीएफसी बंगाल के अंकुरहाटी में पहले से ही मौजूद है, दूसरा बंगहुगली और तीसरा सेंट्रल कोलकाता में बनेगा। उन्होंने द जेम्स एंड ज्वेलरी एक्सपोर्ट प्रोमोशन कौंसिल (जीजेईपीसी) द्वारा आयोजित परिचर्चा सत्र में जीजेईपीसी के क्षेत्रीय अध्यक्ष प्रकाश चंद्र पिंचा की यह मांग मंजूर की। मित्रा ने कहा कि बंगाल में स्वागत है, बंगाल जेम्स एंड ज्वेलरी को आईटी सेक्टर से भी अधिक सुविधा देगा।
‘कोलकाती’ पूरी दुनिया में पहुंचेगी
उन्होंने कहा कि बंगाल की खास पहचान ‘कोलकाती’ को पूरी दुनिया में पहुंचाया जाएगा और जीआई (भौगोलिक संकेत) में आठवें उत्पाद के रूप में इसको मान्यता दिलाएंगे। ‘कोलकाती’ इतना प्रसिद्ध है कि इसको पेटेंट की भी जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि बंगाल के शिल्प करीगर द्वारा बनाये गये उत्पादों को बढ़ावा दें, क्योंकि यहां की ज्वेलरी विश्व स्तर पर अपनी पहचान बनाये हुए है। कटिंग, मेकिंग और कलरिंग के अलावा वेल्यू एडेड गुड्स की तरफ अपना ध्यान लगाएं। उन्होंने कोलकाता जेम्स एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक बेंगानी की इस बात के लिए प्रशंसा की कि उनके नेतृत्व में अंकुरहाटी में स्किल डेवलपमेंट का शानदार काम चल रहा है।
जीजेईपीसी की मांग: पिंचा ने वित्त मंत्री से मांग की कि वे बंगाल में ज्वेलरी पार्क व वन स्टॉप सेंटर बनाएं, सोने को सीज करने की नीति खत्म करें। इस क्षेत्र में रिवर्स स्ट्रक्चर पॉलिसी की जरूरत है। एमएसई और एमएसएमई को बैंक ऋण गारंटी से मुक्त करें। स्टॉक ट्रेड के उत्पाद को सीज न करें। निर्यात से जीएसटी हटाएं और खरीद पर पैन कार्ड की अनिवार्यता को हटायें। जीजेईपीसी के क्षेत्रीय अध्यक्ष प्रकाश चंद्र पिंचा ने बताया कि उनकी काउंसिल ने विनिर्माण क्षेत्र के माध्यम से 2022 तक 60 लाख करोड़ रुपये और 2025 तक 80 लाख करोड़ रुपये का भारत से अन्य देशों के साथ व्यापार करने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने बताया कि पूरे देश में 142 और बंगाल में तीन सीएफसी बनेंगे, जिनका निर्माण तीन फेज में होगा। पहला सीएफसी अंकुरहाटी में है। दूसरा बंगहुगली में खोला जाएगा और तीसरे के लिए सेंट्रल कोलकाता में जगह देखी जा रही है। उन्होंने बताया कि जेम्स एवं ज्वेलरी क्षेत्र का लक्ष्य वर्ष 2022 तक मेक इन इंडिया का अनूठा उदाहरण बनना है।

इंफोसिस करेगी राज्य में 100 करोड़ का निवेश: ममता

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि आई.टी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी इंफोसिस राज्य में बिना सेज (स्पेशल इकोनॉमिक जोन) स्टेट्स के ही 100 करोड़ का निवेश करेगी। मंगलवार को संवाददाताओं से सीएम ने कहा कि इंफोसिस कंपनी यहां आ रही है। राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं को स्वीकार करते हुए कंपनी यहां राजारहाट में करीब 50 एकड़ जमीन पर 100 करोड़ का निवेश करेगी। सीएम ने कहा कि इस निवेश से हम उम्मीद करते हैं कि करीब 1000 लोगों को रोजगार मिलेगा। उल्लेखनीय है कि इंफोसिस ने पहले राज्य सरकार से सेज स्टेटस की मांग की थी जिसे देने में सरकार ने अपनी असमर्थता जतायी थी। बताया गया है कि करीब 75 करोड़ का निवेश नहीं हो पाया था।

Leave a Comment

अन्य समाचार

कांग्रेस ने बंगाल के 25 उम्मीदवाराें की दूसरी सूची जारी की

कोलकाता : साेमवार को कांग्रेस ने बंगाल के 25 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दी। इससे पहले कांग्रेस ने 11 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी। इसके साथ ही कांग्रेस ने बंगाल के लिए अब तक कुल [Read more...]

दार्जिलिंग के भाजपा प्रत्याशी को कर्सियांग में दिखाये गये काले झंडे

दार्जिलिंगः दार्जिलिंग लोकसभा केन्द्र के भाजपा प्रत्याशी राजू बिष्ट के बागडोगरा पहुंचने के बाद जहां भाजपा कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया तो वहीं दार्जि‌‌लिंग जाते वक्त जीजेएम (बिनय गुट) के समर्थकों ने उन्हें काले झंडे दिखाये [Read more...]

मुख्य समाचार

आईएसआई का एजेंट गिरफ्तार

बीते 18 साल में 17 बार जा चुका है पाकिस्तान।। उसने रणनीतिक महत्व की जानकारी पाने के लिए सेना के जवानों को भी हनीट्रेप में फंसाया।। जयपुर : दिल्ली के एक व्यक्ति मोहम्मद परवेज (42) को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई [Read more...]

कांग्रेस ने बंगाल के 25 उम्मीदवाराें की दूसरी सूची जारी की

कोलकाता : साेमवार को कांग्रेस ने बंगाल के 25 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दी। इससे पहले कांग्रेस ने 11 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी। इसके साथ ही कांग्रेस ने बंगाल के लिए अब तक कुल [Read more...]

ऊपर