येस बैंक ने 2025 तक सभी शाखाओं को मुनाफे में लाने का लक्ष्य रखा, किए ये बड़े बदलाव

नई दिल्ली : निजी क्षेत्र की बैंक येस बैंक ने वर्ष 2023 तक 80 प्रतिशत और 2025 तक सभी शाखाओं को मुनाफे में लाने का लक्ष्य रखा है। बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) रवनीत गिल ने कहा कि वर्तमान में बैंक की 1,100 शाखाओं में से महज 30 फीसदी ही मुनाफा दे पा रही हैं। ऐसे में हमने 2023 तक 80 प्रतिशत और 2025 तक 100 प्रतिशत शाखाओं को मुनाफे में लाने का लक्ष्य रखा है।

गिल ने कहा कि इस लक्ष्य की पूर्ति के लिए हर शाखा की अलग से समीक्षा की जा रही है और प्रदर्शन के मुख्य संकेतकों पर ध्यान दिया जा रहा है। इसके साथ ही उन कारोबारों की भी पहचान की जा रही है, जिन्हें लक्ष्य में लिया जाना चाहिए। बैंक को पिछले वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही में 1,506 करोड़ रुपये का भारी भरकम घाटा हुआ है। गिल ने कहा कि प्रावधानों का अनुपालन तथा कंपनी संचालन को दो संवेदनशील क्षेत्रों के रूप में पहचाना गया है। दोनों क्षेत्रों में बैंक का क्रियाकलाप मजबूत बनाने पर काम किया जा रहा है।

वहीँ बैंक के कंपनी संचालन में लापरवाही के कारण पूर्व सीईओ राणा कपूर को पद से हटना पड़ा था। जनवरी में उनके पद छोड़ने के बाद रवनीत गिल बैंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नियुक्त हुए। गिल ने कहा कि अब बैंक का जोर खुदरा बैंकिंग के बजाय कॉरपोरेट बैंकिंग पर होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

us

चीन की बेल्ट रोड परियोजना पर भारत की चिंताओं को साझा करता है अमेरिका : एलिस वेल्स

वाशिंगटन : अमेरिका ने चीन की महात्वाकांक्षी ‘वन बेल्ट वन रोड’ (ओबीओआर) परियोजना पर भारत के विरोध का समर्थन किया और कहा कि वह इस आगे पढ़ें »

Ramjan Ali

बेलूर में संस्कृत पढ़ाएंगे मुस्लिम प्रोफेसर

कोलकाता : कोलकाता के बाहरी क्षेत्र में स्थित एक कॉलेज के संस्कृत विभाग में एक मुस्लिम व्यक्ति को सहायक प्राध्यापक के तौर पर नियुक्त किया आगे पढ़ें »

ऊपर