यहां करें निवेश, मिलेगा अच्छा रिटर्न

नई दिल्ली : भविष्य में फाइनेंशियल जरूरतों को पूरा करने के लिए निवेश बेहद जरूरी है। अपनी जरूरतों को देखते हुए आप कम अवधि या लंबी अवधि के लिए निवेश कर सकते हैं। अपनी जरूरतों, फाइनेंशियल गोल और आर्थिक स्थिति के अनुसार ही निवेश के विकल्पों का चयन करें, क्योंकि बिना सोचे-समझे किया गया निवेश आप पर भारी भी पड़ सकता है।

एफडी है सबसे सेफ
फिक्स्ड डिपॉजिट यानी एफडी आपकी सबसे सुरक्षित, इंस्टटेंट लिक्विडिटी (आसानी से पैसों की निकासी) और रिटर्न देता है। हालांकि हाल ही में आरबीआई द्वारा रेपो रेट में कटौती किये जाने के बाद से एफडी पर ब्याज दरों में कमी आ रही है। इसके बावजूद एफडी देश लोगों आवश्यकता बन गई है।

कम अवधि के लिए म्युचुअल फंड्स
म्युचुअल फंड्स में सबसे सेफ निवेश लिक्विड फंड्स माने जाते हैं। ये एक तरह के डेट फंड्स होते हैं जिनमें कम समय के लिए निवेश किया जाता है और इनका रिटर्न फिक्स्ड डिपॉजिट के बराबर या कभी-कभी उससे ज्यादा भी होता है। पिछले एक साल में लिक्विड फंड्स के लिए कैटेगरी रिटर्न करीब 6.72 फीसद रहा है। वहीं, पांच सालों का रिटर्न 7.30 फीसद सालाना रहा है।

प्राइवेट और स्मॉल बैंक
पब्लिक सेक्टर के बैंकों की तुलना में प्राइवेट सेक्टर के बैंक अधिक ब्याज देते हैं। पब्लिक सेक्टर में इस समय सभी अवधियों के लिए दरें 5.5 से 7 फीसद के बीच है, जबकि प्राइवेट बैंकों में दरें 6.5 से 7.85 फीसद के बीच हैं। वहीं कुछ स्मॉल बैंक्स 7.5 से 9 फीसद तक भी ब्याज दरों की पेशकश कर रहे हैं।

लंबी अवधी के लिए एनएससी
आप ग्राहक सरकार से नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट भी खरीद सकते हैं, जो कि एक स्मॉल सेविंग स्कीम है। यह इस समय धारा 80 सी के तहत टैक्स में छूट के साथ ही सालाना 7.9 फीसद की दर से रिटर्न दे रही है। इस योजना में आपका रिटर्न हर साल निवेश में जुड़ जाता है, जो कि आपको धारा 80 सी के तहत अतिरिक्त छूट दिलाता है। योजना में ग्राहक को रिटर्न पांच साल पूरे होने के बाद मिलता है, उस समय रिटर्न कर योग्य होता है।

लंबे समय के लिए पीपीएफ
पीपीएफ यानी पब्लिक प्रोविडेंट फंड एक 15 साल की सरकारी इन्वेस्टमेंट स्कीम है, यह डेट इन्वेस्टमेंट के लिए एक बेस्ट ऑप्शन है। वर्तमान में यह 7.9 फीसद के सालाना रिटर्न की पेशकश कर रही है, जो कि पूरी तरह कर मुक्त होगा। यह लंबे समय के निवेश के लिए अच्छा विकल्प है। इसमें छह सालों के बाद आंशिक निकासी कर सकते हैं। पैसों की निकासी की जरूरत ना हो तो आप इस योजना में निवेश कर सकते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अपराध

ई मित्र केंद्र के संचालक से 4 लाख की ठगी

श्रीगंगानगर : राजस्थान में श्रीगंगानगर जिले के सूरतगढ़ में एक ई-मित्र केंद्र के संचालक से चार लाख की ऑनलाइन ठगी करने का मामला शुक्रवार को आगे पढ़ें »

योगी आदित्यनाथ ने बदायूं के 13 अधिकारियों को किया निलंबित, विभागीय जांच का भी आदेश

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार के प्रति बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं करने की नीति पर बड़ी कार्रवाई करते हुए बदायूं आगे पढ़ें »

ऊपर