महिलाओं को बजट से हैं ये उम्मीदें, इन पर चाहती हैं खास रियायत

नई दिल्ली : केंद्र सरकार 1 फरवरी को आम बजट 2020-21 पेश करेगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का यह दूसरा बजट होगा। पिछले बजट में वित्तमंत्री ने महिलाओं के लिए कई अहम घोषणाएं की थीं और उम्मीद है कि इस बजट में भी महिलाओं के लिए बहुत कुछ खास होगा।

किचन के दामों में हो कमी 

2019 के बजट में महिला उद्यमिता को बढ़ावा देने के साथ, मुद्रा योजना के तहत महिलाओं को सस्ता लोन देने का एलान किया गया, जिसके तहत एक लाख तक का लोन देने की घोषणा हुई। जन धन खाते वाले प्रत्येक सत्यापित महिला एसएचजी (सेल्फ हेल्प ग्रुप) सदस्य को 5000 रुपये के ओवरड्राफ्ट की अनुमति दी गई। इस बजट में भी महिलाओं को काफी उम्मीदे हैं और महिलाएं चाहती हैं कि खासकर किचन का सामान सस्ता हो जाए। महंगाई बढ़ने से महिलाओं के लिए घर चलाना मुश्किल हो गया है।

एलटी फूड्स और जापानी कंपनी-केमेडा ने क्रंची नमकीन किए लॉन्च

टैक्स और यातायात खर्चों में कटौती 

वहीं सशक्तिकरण व शिक्षा पर को लेकर भी महिलाओं को काफी उम्मीदें हैं। यातायात खर्चों में भी बजट में कटौती की जाए। टैक्स में भी महिलाओं ने छूट की बात कही है महिलाएं चाहती हैं कि सरकार महिलाओं के लिए टैक्स में रियायत दे। साथ ही सरकार महिला आंत्रप्रेन्योर के लिए कोई कदम उठाए। सरकार भी चाहती है कि महिलाएं स्वावलंबी बनें ऐसे में महिलाओं को काफी उम्मीदें हैं।

अमेजन पांच सालों में 7 हजार करोड़ रुपये करेगा निवेश, 10 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

मातृत्व अवकाश पर महिलाएं बजट में कुछ अहम् घोषणाएं चाहती हैं। कुछ महिलाओं ने बालिकाओं के लिए व्यावसायिक कोर्स शुरु करने की बात कही। साथ ही म्यूचुअल फंड्स, बीमा व एफडी में महिलाओं को प्राथमिकता मिले। वहीं ग्रामीण महिलाएं चाहती हैं कि महिलाओं को ई-चौपाल या ई-नेट के माध्यम से और सशक्त किया जाए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

terrorist

पुलवामा में सुरक्षाबलों की बड़ी कार्रवाई, 3 आतंकी ढेर

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में बुधवार रात सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए। सैन्य सूत्रों के मुताबिक, तीनों आतंकी आगे पढ़ें »

उत्तर प्रदेश का बजट जनता की आकांक्षाओं के साथ छलावा : मायावती

नयी दिल्ली : बसपा की अध्यक्ष मायावती ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश सरकार के बजट को जनता की अपेक्षाओं के साथ छलावा बताते हुए कहा आगे पढ़ें »

ऊपर