मई से रोज बदलेंगे पेट्रोल-डीजल के भाव

प्रयोग के तौर पर पांच शहरों में शुरू की जाएगी पायलट परियोजना

नई दिल्लीः पेट्रोल और डीजल के दाम अंतरराष्ट्रीय दरों के अनुरूप डेली डायनमिक प्राइसिंग के तहत आगामी एक मई से प्रतिदिन बदलेंगे। सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियां इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी), भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (बीपीसीएल) तथा हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (एचपीसीएल) एक मई से देश के पांच चुने शहरों में दैनिक आधार पर दाम तय करने की योजना की शुरुआत करेंगीं। धीरे-धीरे इसके बाद इसे पूरे देश में लागू कर दिया जायेगा। देश के कुल 58,000 पेट्रोल पंपों में से 95 प्रतिशत पेट्रोल पंप इन्हीं कंपनियों के हैं। फिलहाल देश में पेट्रोल और डीजल की कीमत 15 दिन के अंतराल पर तय होती है। इस योजना को पूरे देश में लागू करने के लिए तेल कंपनियों ने पांच शहरों का चुनाव किया है जिससे प्रतिदिन नई कीमत पर पेट्रोल-डीजल बेचनें में आने वाली व्यवहारिक दिक्कतों को समझकर दूर किया जा सके। आईओसी के चेयरमैन बी अशोक ने कहा, ‘‘अंततः हम देशभर में सभी पेट्रोल पंपों पर दैनिक आधार पर बाजार दर तय करने की व्यवस्था की तरफ बढ़ेंगे।’ यह अंतरराष्ट्रीय बाजार के दैनिक मूल्यों के हिसाब से होगा। डालर-रुपये की विनिमय दर और कच्चे तेल के दाम में होने वाले दैनिक उतार-चढ़ाव के अनुरूप यहां भी दाम तय होंगे।
किन शहरों से शुरुआत
पायलट प्रोजेक्टके रूप में इनकी शुरुआत पुडुचेरी, वाइजैग, उदयपुर, जमशेदपुर और चंदीगढ़ से की जाएगी। इन शहरों में इस योजना के सफल होने पर इसे पूरे देश में लागू करने का फैसला किया जाएगा। देश में सरकारी तेल कंपनियां अंतरराष्ट्रीय मुद्रा बाजार और क्रूड ऑयल मार्केट में उतार-चढ़ाव को आधार मानते हुए अभी तक 15 दिन पर पेट्रोल और डीजल की नई कीमतें निर्धारित करती हैं। इन पांच शहरों में इन कंपनियों के लगभग 200 पेट्रोल-डीजल पंप है जो प्रतिदिन सुबह नई निर्धारित कीमत के मुताबिक पेट्रोल और डीजल की बिक्री करेंगे।

इधर, कच्चे तेल में आया उबाल

लंदनःओपेक समझौते के तहत निर्धारित सीमा से तेल उत्पादक देशों द्वारा  अधिक कटौती करने की खबर से अंतरराष्ट्रीय बाजार में बुधवार क कच्चा तेल 56 डॉलर प्रति बैरल के पार पहुँच गया। ब्रेंट क्रूड में लगातार आठवें दिन तेजी दर्ज की गयी। फरवरी 2012 के बाद पहली बार ब्रेंट क्रूड में लगातार इतने दिनों तक तेजी रही है। लंदन में ब्रेंट क्रूड का वायदा 10 सेंट चढ़कर 56 डॉलर के पार 56.33 डॉलर प्रति बैरल पर बोला गया जो एक माह के उच्चतम स्तर 56.65 डॉलर प्रति बैरल के करीब है। हालांकि, कारोबार के दौरान  इसका उच्चतम स्तर 56.65 डॉलर रहा।

 

 

 

 

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

देशभर के 1.5 लाख डाकघरों को आधुनिक बनाएगी यह कंपनी

नई दिल्ली : भारतीय डाक अब आधुनिक होंगे। इसे आधुनिक रूप देने के लिए आगे आई है आईटी सेवा प्रदाता कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस)। इसके तहत देश के 1.5 लाख डाकघरों को आधुनिक रूप दिया जाएगा। कंपनी को [Read more...]

कचरा प्रबंधन के लिए सलाना 5 अरब डॉलर के निवेश की जरूरत: रिपोर्ट

नई दिल्ली : उद्योग संगठन एसोचैम और ब्रिटेन की बहुराष्ट्रीय सलाहकार अर्नस्ट एंड यंग (ईवाई) के संयुक्त रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय शहरों में सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) के माध्यम से नगरपालिका के ठोस अपशिष्ट प्रबंधन (एमएसडब्ल्यूएम) के कार्यान्वयन के लिए [Read more...]

मुख्य समाचार

आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, लोन सस्ते होने की उम्मीद

मुंबईः भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो रेट में 0.25% की कटौती की है। यह 6.25% से घटकर 6% हो गई है। मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) की बैठक खत्म होने के बाद गुरुवार को ब्याज दरों की घोषणा की गई। [Read more...]

कांग्रेस का पूरा घोषणापत्र हिंदी में पढ़ें

कांग्रेस ने मंगलवार को अपना घोषणापत्र जारी किया जिसमें गरीब परिवारों को 72 हजार रुपये सालाना, 22 लाख सरकारी नौकरियां, महिलाओं को आरक्षण, धारा 370 को न हटने देने और देशद्रोह की धारा हटाने सहित कई वादे किए। यहां क्लिक [Read more...]

क्या अजय-काजोल की बेटी बॉलीवुड में करने जा रही डेब्यू?

मैच गंवाकर धोनी बोले- शीर्षक्रम के बल्लेेबाजों को फिनिशर की भूमिका निभानी चाहिये

सुप्रीम काेर्ट में राहुल गांधी ने चौकीदार चोर है’ टिप्पणी पर जताया खेद कहा -आवेश में आकर दिया बयान

ईरान से तेल खरीदने वाले भारत सहित पांच देशों पर अमेरिका लगा सकता है प्रतिबंध : सूत्र

गोखले ने चीनी विदेश मंत्री के साथ की वार्ता

देशभर के 1.5 लाख डाकघरों को आधुनिक बनाएगी यह कंपनी

आजम खान के बाद अब उनके बेटे ने की जया प्रदा पर विवादित टिप्पणी, कही ये बड़ी बात

श्रीलंका सिलसिलेवार विस्फोट : 2 जेडीएस नेताओं सहित 6 भारतीयों की मौत, मामले में अबतक 24 लोग गिरफ्तार

कचरा प्रबंधन के लिए सलाना 5 अरब डॉलर के निवेश की जरूरत: रिपोर्ट

जेट एयरवेज के विमानों को उड़ाना चाहता है यह एयरलाइंस

ऊपर