मंदी की चिंताओं के बीच विकास करेगी भारत की अर्थव्यवस्था: सीआईआई

नई दिल्ली : रिपोर्ट्स के मुताबिक दुनियाभर में मंदी की चिंताओं के बीच भारत की अर्थव्यलवस्था तेजी से विकास करेगी। इंडस्ट्री के मुताबिक फाइनांस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण के इंडस्ट्री को प्रोत्साहन देने संबंधी उपायों के बाद इकोनॉमी मजबूत होगी। उद्योग संगठन ने बताया कि इन कदमों से देश की अर्थव्यवस्था में स्थिरता आएगी और प्रोत्साहन मिलेगा।

सीआईआई ने कहा कि भारत की ग्रोथ रेट कारोबारी साल 2018-19 की चौथी तिमाही में 5.8 फीसदी रही और ट्रेंड बताते हैं कि वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में यह सीमित दायरे में रहेगी। वित्तमंत्री के पॉलिसी पैकेज में वित्तीय क्षेत्र, टैक्सेहशन, एमएसएमई और ऑटोमोटिव सेक्टर को शामिल किया गया है, जिसे लेकर सीआईआई ने सरकार से अपील की थी।

सीआईआई ने कहा कि आगामी महीनों में अर्थव्यवस्था रफ्तार पकड़ेगी। उद्योग संगठन ने कहा कि वित्तमंत्री द्वारा विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों पर सरचार्ज वृद्धि हटाए जाने और भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा एफपीआई विनियमन में संशोधन किए जाने से निवेशकों को मनोबल बढ़ेगा।

सीआईआई के नामित अध्यक्ष उदय कोटक के अनुसार एफपीआई से बढ़े हुए सरचार्ज हटाए जाने, रेपो रेट में कटौती का हस्तांतरण होने और विलंबित भुगतान का समाधान किए जाने के फैसले रणनीतिक फैसले हैं, जिनका लक्ष्य निवेश बढ़ाना है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेकाबू होता जा रहा है डेंगू, और 2 की मौत

अब तक 19 मरे, साढ़े 11 हजार लोग पीड़ित सन्मार्ग संवादाता कोलकाता : डेंगू का कहर दिन ब दिन बेकाबू होता जा रहा है। रविवार को डेंगू आगे पढ़ें »

mamata banerjee

आज केन्द्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मियों को सम्बोधित करेंगी ममता

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज सोमवार को नेताजी इंडोर स्टेडियम में केंद्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मचारियों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित करेंगी। इन आगे पढ़ें »

ऊपर