भेल को मिला अबतक का सबसे बड़ा ठेका

नयी दिल्लीः भेल ने 20,400 करोड़ रुपये की लागत वाली यदाद्रि सुपरक्रिटिकल तापीय विद्युत परियोजना का क्रियान्वयन शुरू कर दिया है। यह कंपनी को मिला अब तक का सबसे बड़ा ठेका है। यह देश में बिजली क्षेत्र का भी सबसे बड़ा ठेका है। भेल ने कहा कि परियोजना को पर्यावरणीय मंजूरियां मिल चुकी हैं। यह संशोधित उत्सर्जन प्रावधानों का भी पालन करेगी। यह परियोजना नालगोंडा जिले के दमाराचेरला में स्थित है।

तेजी से क्र‌ियान्वयन

कंपनी ने आगे कहा कि इस परियोजना का क्रियान्वयन तेजी से किया जाएगा। कंपनी की रणनीति लंबित परियोजनाओं को तेजी से पूरा करने पर ध्यान देने की है। बिजली संयंत्रों का उपकरण बनाने वाली सरकारी कंपनी भेल ने शेयर बाजार को दी गयी जानकारी में कहा, तेलंगाना राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड द्वारा भेल को मिले 4000 मेगावाट क्षमता वाली यदाद्रि सुपरक्रिटिकल तापीय विद्युत परियोजना का क्रियान्वयन निगम से संशोधित आशय पत्र जारी होने के बाद शुरू कर दिया गया है। कंपनी ने कहा कि इस परियोजना की लागत करीब 20,400 करोड़ रुपये है।

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

किसानों ने पाकिस्तान में टमाटर एक्पोर्ट पर लगाई रोक, घाटा सहने को भी तैयार

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले से पूरे देश में दुख तथा आक्रोश है। देश का व्यापारी वर्ग भी गुस्से में हैं और पाकिस्तान से किसी भी तरह के संबंध खत्म करना [Read more...]

3 साल में 28 अरब डॉलर का हो जाएगा स्मार्ट फीचर फोन बाजार : रिपोर्ट

नई दिल्ली : स्मार्टफोन बाजार अगले तीन सालों में 28 अरब डॉलर का हो जाएगा। यह बात काउंटरप्वाइंट ने अपने रिपोर्ट में कही  है। काउंटरप्वाइंट के शोध निदेशक नील शाह ने कहा कि  साल 2021 के अंत तक दुनिया भर [Read more...]

मुख्य समाचार

सिद्धू के समर्थन में उतरे कपिल शर्मा

नई दिल्लीः पुलवामा हमले पर दिए गए बयान के बाद नवजोत सिंह सिद्धू को जमकर किए जा रहे विरोध का सामना करना पड़ रहा है। जहां एक ओर उन्हें कॉमेडी शो द कपिल शर्मा शो  से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया, वहीं [Read more...]

बड़ा फैसलाः बिहार में पूर्व मुख्यमंत्रियों को अब नहीं मिलेगा सरकारी आवास

पटनाः पटना हाईकोर्ट ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्रियों को आजीवन मिलने वाली सरकारी आवास की सुविधा समाप्त कर दी है। चीफ जस्टिस ए पी शाही की खंडपीठ ने मामले पर स्वतः संज्ञान लेते हुए सुनवाई पूरी कर फैसला सुरक्षित रखा था, [Read more...]

ऊपर