भारत में ऑयल रिजर्व तैयार करेगा संयुक्त अरब अमीरात

नई दिल्लीः भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने बुधवार को आर्थिक सहयोग बढ़ाने के लिए 14 करार करार किए। इसमें एक करार ऐसी व्यवस्था करने के लिए हुआ है, जिसके तहत अबू धाबी नेशनल आॅयल कंपनी भारत में अपने कच्चे तेल का भंडारण करेगी। इसके अलावा एक अन्य सहमति ज्ञापन (एमओयू) सूचनाआें के आदान प्रदान के जरिये डंपिंग के खिलाफ सहयोग बढ़ाने, क्षमता निर्माण, संगोष्ठियाें और प्रशिक्षण आदि के क्षेत्र में किया गया है। इस निवेश से विशेषज्ञों में उत्साह है। उनके अनुसार अगले 10 सालों में भारत में बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 1.5 ट्रिलियन डॉलर का निवेश किए जाने की जरूरत है। केंद्र सरकार का लक्ष्य 2019 तक देश के 7 लाख गांवों को सड़कों से जोड़ना है।

कच्चे तेल का भंडारण भारत में
कच्चे तेल संबंधी करार पर भारत में कच्चे तेल के आरक्षित भंडार का प्रबंध करने वाली इंडियन स्ट्रैटिजिक पेट्रोलियम रिजर्व लिमिटेड तथा अबू धाबी नेशनल आॅयल कंपनी की ओर से दस्तखत किए गए हैं। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि इस करार का मकसद अबू धाबी नेशनल आॅयल कंपनी द्वारा भारत में कच्चे तेल के भंडारण के लिए ढांचा स्थापित करना और दोनाें देशाें के बीच ऊर्जा के क्षेत्र में रणनीतिक संबंधाें को और मजबूत करना है।

समुद्री व्यापार के अलावा कई करार हुए

अबू धाबी के शहजादे शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाहयान की भारत यात्रा के दौरान यहां कराराें का आदान प्रदान किया गया। एक अन्य करार समुद्री क्षेत्र की आर्थिक गतिविधियाें को बढ़ाने के लिए किया गया है। साथ ही दोनाें देशाें ने राजमार्ग और सड़क परिवहन के क्षेत्र में प्रौद्योगिकियाें, प्रणालियाें तथा मालढुलाई लाजिस्टिक्स को साझा कर सहयोग बढ़ाने का भी समझौता किया है। इसके अलावा एमएसएमई, शोध एवं विकास, आपसी हित के कृषि क्षेत्राें तथा ऊर्जा दक्षता सेवा क्षेत्र में भी करार किए गए हैं।

मेंगलूर तेल भंडारण सुविधा की आधी क्षमता का इस्तेमाल करेगी एडनॉक

संयुक्त अरब अमीरात की राष्ट्रीय तेल कंपनी एडनॉक ने भारत में कच्चे तेल के रणनीतिक भंडारण के लिए स्थापित पहली सुविधा के इस्तेमाल के लिए एक करार पर दस्तखत किए। यह सुविधा मेंगलूर में स्थापित की गई है और दोनाें देशों ने ऊर्जा क्षेत्र में सहयोग संबंध मजबूत करने के उपायों के तहत इस आशय का समझौता किया है। भारत कच्चे तेल की अपनी जरूरत का 81 प्रतिशत आयात करता है और आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम और कर्नाटक के मेंगलूर और पुडुर में कच्चे तेल के भारण की भूमिगत सुविधाएं तैयार की गई हैं। इनमें 53.3 लाख टन कच्चे तेल का भंडारण किया जा सकता है। यह कदम वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमताें में उतार चढ़ाव तथा आपूर्ति में बाधा से बचाव के लिए उठाया गया है। अधिकारियाें ने बताया कि अबू धाबी नेशनल आॅयल कंपनी (एडनॉक) मेंगलूर की 15 लाख टन सुविधा में से आधे को किराये पर लेगी।

मुख्य समाचार

half glass water will be available only

ये क्या ? यूपी विधान सभा में सिर्फ आधा गिलास पानी ही मिलेगा

लखनऊ : जल संरक्षण को बढ़ावा देने और पानी की बर्बादी रोकने के ‌लिए उत्तर प्रदेश(यूपी) विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने आदेश दिया है आगे पढ़ें »

केंद्र सरकार जल्द लागू कर सकती है टीओडी सिस्टम, जानिए क्या होगा उपभोक्ता को फायदा

नई दिल्ली : केंद्र सरकार देश में 1 टैरिफ पॉलिसी केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी के लिए अगली बैठक में रख सकती है। इस पालिसी का आगे पढ़ें »

Supreme Court of India

बाबरी विध्वंस मामला : सुप्रीम कोर्ट ने कहा- 9 महीने में फैसला सुनाए विशेष अदालत

  नई दिल्ली : बाबरी विध्वंस मामले में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने विशेष अदालत को 6 महीने मेें सुनवाई पूरी कर 9 महीने में फैसला आगे पढ़ें »

Uttar Pradesh, Sonbhad massacre, Priyanka sitting on the dharna

सोनभद्र हत्याकांड: पीड़ित परिवारों से मिलने जा रही थी प्रियंका, काफिला रोका तो धरने पर बैठी

सोनभद्रः कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार की सुबह सोनभद्र हत्‍याकांड के पीड़ित परिवारवालों से मिलने जा रही थीं तभी प्रशासन ने उनके काफिले को आगे पढ़ें »

दिल्ली के प्रिथु भारत के 64वें ग्रैंडमास्टर बने

आनंद सबसे पहले ग्रैंडमास्टर, गुकेश सबसे युवा नई दिल्लीः दिल्ली के युवा खिलाड़ी प्रिथु गुप्ता पुर्तगाल लीग 2019 के पांचवें दौर में आईएम लेव यांकेलेविच आगे पढ़ें »

धोनी पर फैसला सुनाए बोर्ड, युवा खिलाड़ियों को मिले मौकाः गंभीर

'एक समय पर हमें कहा गया था कि अाप नहीं खेल सकते क्योंकि मैदान बड़े हैं, विश्व कप के लिए युवा खिलाड़ियों की मांग की आगे पढ़ें »

Central Government, Assam NRC issue, Capital of Refugees

भारत को शरणार्थियों की राजधानी नहीं बनने देंगे – केंद्र सरकार

नई दिल्‍ली : असम में राष्ट्रीय नागरिक पंजीयन (एनआरसी) के मुद्दे पर केंद्र सरकार का कहना है कि भारत को शरणार्थियों की राजधानी नहीं बनाया आगे पढ़ें »

आईसीसी ने खत्म किया जिम्बाब्वे क्रिकेट का अस्तित्व

जिम्बाब्वे की सरकार ने दखल देने की कोशिश की थी हरारेः अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने सरकार के दखल का हवाला देते हुये जिम्बाब्वे क्रिकेट को आगे पढ़ें »

Shiva devotional atmosphere

बोल बम के जयघोष से पूरा वातावरण हुआ शिव भक्तिमय

देवघर : प्रसिद्ध श्रावणी मेला के दूसरे दिन गुरुवार सुबह 4 से बाबा का जलार्पण शुरू हुआ। बोल बम के जयघोष के साथ श्रद्धालु कड़ी आगे पढ़ें »

Chandrayaan-2 will be able to see the launch, online registration to see the launch,

चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग देखने का सुनहरा मौका, 19 जुलाई से ऑनलाइन पंजीकरण

नई दिल्ली : इसरो 22 जुलाई को दोपहर 2.43 बजे चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण करने जा रहा है। क्या आप भी इस ऐतिहासिक क्षण के प्रत्यक्ष आगे पढ़ें »

ऊपर