भारत के निर्यात पर प्रतिबंध के बाद प्याज ने पड़ोसी देशों को रूलाया

onion

नई दिल्लीः भारत के प्याज निर्यात पर प्रतिबंध लगाने के बाद से पड़ोसी देशों में प्याज की कीमतों में बेत्तहाशा वृद्धि हो गई है। नेपाल, बांग्लादेश, मलेशिया व श्रीलंका अब चीन, म्यांमार, मिस्‍त्र जैसे देशों का रूख कर रहे हैं।
दरअसल, भारत के ज्यादातर पड़ोसी देशों में प्याज पर महंगाई की तगड़ी मार पड़ी है। भारत अपने पड़ोसी देशों की प्याज की ज्यादातर जरूरत की भरपाई करता है। भारत में भारी बारिश के चलते प्याज की फसल में देरी हो रही है, जिसके कीमतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। पिछले रविवार को स्थानीय कीमतें 4,500 रुपये प्रति क्विंटल के स्तर पर पहुंच गई थीं, जो लगभग छह साल का ऊपरी स्तर है।

म्यांमार, तुर्की, मिस्‍त्र की ओर रुख किया

सरकारी अधिकारियों और ट्रेडर्स ने कहा कि प्रतिबंध के बाद बांग्लादेश जैसे देशों ने कीमतों को थामने के लिए म्यांमार, मिस्र, तुर्की और चीन जैसे देशों से प्याज की आपूर्ति बढ़ाने का अनुरोध करना शुरू कर दिया है। हालांकि भारतीय निर्यात की भरपाई करना आसान नहीं होगा। कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण के मुताबिक, भारत ने वित्त वर्ष 2018-19 में 22 लाख टन प्याज का निर्यात किया था। ट्रेडर्स का अनुमान है कि यह आंकड़ा एशियाई देशों द्वारा किए जाने वाले कुल आयात की तुलना में दोगुने से भी ज्यादा है।

बांग्लादेश में 100, तो श्रीलंका में 120 रुपये
बांग्लादेश के एक ट्रेडर मोहम्मद इदरीस ने कहा कि राजधानी में महज 15 दिन के भीतर प्याज की कीमतें दोगुने बढ़कर 1.42 डॉलर (100 रुपये) प्रति किलो के आसपास पहुंच गए हैं, जो दिसंबर 2013 के बाद सबसे ज्यादा है। उधर, हालात गंभीर होने के बाद श्रीलंका ने पहले ही मिस्र और चीन को प्याज का ऑर्डर दे दिया है। श्रीलंका में पिछले एक हफ्ते में प्याज के भाव लगभग 50 फीसदी बढ़कर 1.7 डॉलर (120 रुपये) प्रति किलो तक पहुंच गए हैं। भारतीय प्याज के दूसरे बड़े खरीदार मलयेशिया ने निर्यात पर प्रतिबंध को अस्थायी बताया है। उधर मुंबई की प्याज निर्यातक संघ के अध्यक्ष अजीत शाह ने कहा कि भारत ने खुद कीमतों को थामने के लिए मिस्र से आयात करना शुरू कर दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

syria

तुर्की के हमले में सीरिया में 26 नागरिकों की मौत, अमेरिका भेज सकता है सेना

बेरूत : सीरिया में कुर्दों के खिलाफ तुर्की के हमले में रविवार को करीब 26 नागरिकों की मौत हो गई। एक युद्ध निगरानी संस्था ने आगे पढ़ें »

Share profit

शेयर बाजार में आईआरसीटीसी की बंपर लिस्टिंग, निवेशक हुए मालामाल

नई दिल्ली : इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) ने बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) पर 101.25 प्रतिशत और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) पर 95.62 आगे पढ़ें »

ऊपर