भारतीय रेल वित्त निगम में हिस्सेदारी बेचकर आईपीओ से 1000 करोड़ रुपये जुटाएगी सरकार

नई दिल्ली : सरकार आईपीओ के जरिए भारतीय रेल वित्त निगम (आईआरएफसी) में 10 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर 1,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है। प्रक्रिया सितंबर तक पूरी की जाएगी। आईपीओ के लिए आईआरएफसी को सूचीबद्ध की जाएगी, जिसके जरिए 10 फीसदी की बिक्री करके 1,000 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है।

भारतीय रेल की वित्तीय शाखा आईआरएफसी रेलवे के विस्तार व परिचालन के लिए पूंजी बाजार से वित्तीय संसाधन व अन्य ऋण जुटाती है। आईआरएफसी मर्चेट बैंकर की नियुक्ति के बाद मसौदा विवरण पत्रिका के लिए भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) से संपर्क करेगी। निवेश एवं सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (डीआईपीएएम) आईपीओ के लिए रेलवे की अनुषंगी कंपनी को सूचीबद्ध करने को लेकर आशावान है। दरअसल सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम होने के कारण सुरक्षित निवेश को लेकर निवेशकों की इसमें दिलचस्पी देखी गई है।

वहीं रेलवे की एक और शाखा राइट्स को भी पिछले महीने आईपीओ में कामयाबी मिली है, ग्राहकों में 67 गुना इजाफा हुआ।
डीआईपीएएम ने वित्त वर्ष के पहले आईपीओ के जरिए रेल विकास निगम से 466 करोड़ रुपये की रकम जुटाई। चालू वित्तवर्ष में 1.05 लाख करोड़ रुपये विनिवेश का लक्ष्य हासिल करने के मद्देनजर इस साल आईपीओ के लिए 10 पीएसयू कतार में हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

cricket

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को पारी और 202 रन से हराया, 3-0 से किया क्लीनस्वीप

रांची : रांची के जेएससीए स्टेडियम में खेले गए तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में मंगलवार को भारत ने शानदार आलराउंड प्रदर्शन के दम पर आगे पढ़ें »

dhankhad

बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ बोले, ‘मैं राज्य सरकार के अधीन नहीं’

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में राज्य सरकार तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच जारी तनातनी बढ़ती जा रही है। दरअसल इस विवाद आगे पढ़ें »

ऊपर