बैंक ऑफ बड़ौदा ने बोर्ड के मूल्यांकन के लिए उठाया ये कदम

नई दिल्ली : सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक ऑफ बड़ौदा में 1 अप्रैल से विजया बैंक और देना बैंक का विलय हो गया है. मई की शुरुआत तक कंसल्टेंसी फर्म से बोलियां आमंत्रित की हैं. इस विलय के बाद बैंक ऑफ बड़ौदा देश का दूसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक बन गया है. बैंक ऑफ बड़ौदा अपने एक प्रस्ताव में कहा है कि वह ‘रिव्यू ऑफ बोर्ड इवैल्यूएशन’ के लिए एक सलाहकार फर्म नियुक्त करना चाहता है. साथ ही बोर्ड के समग्र मूल्यांकन और प्रभावशीलता की एक स्वतंत्र समीक्षा करने के लिए एक कंसल्टेंसी फर्म को शामिल करने का निर्णय लिया है.

बैंक ऑफ बडौदा ने कहा है कि समीक्षा का परिणाम बेहतर गतिशीलता और मजबूत प्रक्रियाओं के माध्यम से बोर्ड की समग्र प्रभावशीलता को बढ़ाने में मदद करेगा. बैंक ने कहा कि बोर्ड के सदस्यों के साथ गहन साक्षात्कार आयोजित करना होगा. फर्म को बोर्ड कार्यशाला के परिणाम के रूप में ‘बोर्ड विजन’ को परिभाषित करने का काम सौंपा जाएगा. चयनित फर्म को ‘बोर्ड के लिए कार्य योजना’ और साथ ही स्वतंत्र निदेशकों के मूल्यांकन का काम 6-8 सप्ताह के भीतर पूरा करना होगा. आरएफपी पर प्रतिक्रिया देने की अंतिम तिथि 2 मई है.

शेयर करें

मुख्य समाचार

दिल्ली के दो स्टेडियम में ट्रेनिंग शुरू, 50 प्रतिशत खिलाड़ियों को ही अनुमति

नयी दिल्‍ली : स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) ने खिलाड़ियों की ट्रेनिंग के लिए दिल्ली में दो स्टेडियमों को खोल दिया है। जवाहरलाल नेहरू और आगे पढ़ें »

टाइगर वुड्स ने गोल्फ खेलकर एक दिन में 152 करोड़ जुटाए

न्‍यूयार्क : कोरोनावायरस से जंग लड़ने के लिए एक चैरिटी गोल्फ टूर्नामेंट किया गया। इसमें अमेरिका के टाइगर वुड्स, पेटन मैनिंग की जोड़ी भी शामिल आगे पढ़ें »

ऊपर