बैंकों को एनपीए संकट से उबरेगी सरकार, उठाया ये कदम

नई दिल्ली : बैंकों को एनपीए संकट से उबारने के लिए सरकार नई प्लानिंग कर रही है। इसी कड़ी में अब पब्लिक सेक्टर बैंक यानी सरकारी बैंकों के फंसे कर्ज को वापस लाने के लिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का सहारा लिया जाएगा। एक रिपोर्ट के मुताबिक इनकम टैक्स डिपार्टमेंट बैंकों को रिकवरी में मदद करेगा। इस संबंध में आयकर विभाग को निर्देश जारी हो चुके हैं।

आयकर विभाग बैंकों के साथ सभी बैंक अकाउंट की डिटेल्स को शेयर करेगा। साथ ही लोन डिफॉल्टरों के देनदारों सहित सभी परिसंपत्तियों का विवरण भी साझा करेगा। आदेश के मुताबिक आयकर विभाग से कर्ज लेने वालों और उनके गारंटी देने वालों की संपत्ति का भी पूरा ब्योरा बैंकों के साथ साझा करने को कहा गया है।

जानकारियां गोपनीय होगी
निर्देश दिता गया है कि आयकर विभाग की ओर से मिलने वाली तमाम जानकारी को पूरी तरह गोपनिय रखा जाएगा। जानकारी का इस्तेमाल लोन रिकवरी के अलावा किसी दूसरे उद्देश्य से नहीं किया जाएगा। साथ ही यह जानकारी किसी और के साथ भी साझा नहीं किया जाएगी।

सीबीडीटी ने भेजा निर्देश
सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) ने आयकर विभाग के सभी प्रधान आयकर आयुक्त को इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं। साथ ही जोन प्रमुखों को भी यह निर्देश भेजा गया है, आयकर विभाग के हितों की रक्षा को ध्यान में रखते हुए यह भी कहा है कि बैंकों को किसी भी तरह की रिकवरी से पहले आयकर विभाग से एनओसी लेनी होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोलकाता में लॉजिस्टिक के लिए विश्व बैंक तैयार कर रहा मास्टर प्लान : अमित मित्र

परियोजना की​ लागत करीब 300 मिलियन डॉलर कोलकाता : कोलकाता मेट्रोपॉलिटन एरिया में जल्द ही लॉजिस्टिक के क्षेत्र में बड़ी संभावनाएं सामने आने वाली हैं। इसकी आगे पढ़ें »

अफवाहों पर ध्यान ना दें, हम सब एक हैं – विजयवर्गीय

कोलकाता : भाजपा के सांगठनिक चुनाव काे लेकर शनिवार को माहेश्वरी भवन में भाजपा की अहम बैठक की गयी। इस बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय आगे पढ़ें »

ऊपर