बीएस-6 से आयेगा छोटी डीजल कारों की कीमतों में सबसे बड़ा उछाल

नयी दिल्लीः देश भर में वाहनों के पंजीकरण के लिए अगले साल 01 अप्रैल से अनिवार्य होने वाले भारत स्टेज (बीएस)-6 मानक के कारण छोटी डीजल कारों की कीमतों में सबसे तेज उछाल आयेगा। वाहन निर्माता कंपनियों के संगठन सियाम के महानिदेशक विष्णु माथुर ने बताया कि बीएस-6 मानक के लिए वाहनों के इंजनों में आवश्यक बदलाव की लागत हर तरह के यात्री वाहनों के लिए लगभग एक समान है। इसलिए छोटी बड़ी सभी कारों की कीमत एक समान बढ़ेगी। लेकिन, प्रतिशत के लिहाज से सबसे बड़ा बदलाव छोटी कारों की कीमतों में आयेगा।
देश में गत 6 वर्ष में डीजल कारों की बिक्री में आयी है भारी गिरावट
उन्होंने कहा कि यदि बीएस-4 की जगह बीएस-6 इंजन लगाने से कीमत में एक लाख की वृद्धि होती है तो तीन लाख रुपये की कार के ग्राहक को यह अंतर ज्यादा महसूस होगा क्योंकि उसके लिए कीमत 33 प्रतिशत बढ़ जायेगी जबकि 10 लाख रुपये की कार के ग्राहक के लिए कीमत मात्र 10 प्रतिशत बढ़ेगी। इसके अलावा छोटी डीजल कारों पर कर भी दो प्रतिशत ज्यादा है। माथुर ने बताया कि पिछले छह साल में देश में डीजल कारों की बिक्री में भारी गिरावट आयी है। वर्ष 2012-13 में देश में बिकने वाली कारों में 52 प्रतिशत डीजल थीं जो अब घटकर 19 प्रतिशत रह गयी हैं। उन्होंने कहा कि इसमें डीजल और पेट्रोल की कीमतों में अंतर लगभग समाप्त हो जाने से भी काफी प्रभाव पड़ा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टाला ब्रिज पर डायवर्सन के कारण 100 मिनी बसें चलाएगा परिवहन विभाग

वाहनों के डायवर्सन से यात्रियों को नहीं होगी समस्याः शुभेन्दु अधिकारी कोलकाताः टाला ब्रिज पर बस व भारी वाहनों की पाबंदी के बाद बड़े पैमाने पर आगे पढ़ें »

बीजीबी की कार्रवाई बेवजह, हमने नहीं चलाई एक भी गोलीः बीएसएफ

मुर्शिदाबादः बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश (बीजीबी) के जवानों ने बीएसएफ के जवान को लक्ष्य कर जानबूझकर चलायी थी गोली। यह मानना है सीमा पर तैनात बीएसएफ आगे पढ़ें »

ऊपर