बजट से हेल्थकेयर सेक्टर को हैं काफी उम्मीदें, ये है मांग

नई दिल्ली : हेल्थकेयर सेक्टर तेजी से विकास कर रहा है। अगले महीने सरकार संसद में बजट पेश करने जा रही है। हेल्थकेयर सेक्टर को भी इस बजट से बड़ी उम्मीदें हैं। हेल्थ सेक्टर के जानकारों का कहना है कि हेल्थकेयर सेक्टर बड़े पैमाने पर स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराने के साथ-साथ रोजगार पैदा करने वाला सेक्टर भी है। हेल्थकेयर सेक्टर पूरी तरह से राज्य स्तर का विषय है। अगर स्टेट स्तर की बात करें तो गुजरात सरकार ने 5 साल पहले तक इस क्षेत्र को काफी रियायत दी थीं। राज्य सरकार के साथ मिलकर कई प्रोजेक्ट्स पर काम किया था। अब तक छह हॉस्पिटल बन चुके हैं।

केंद्र सरकार की भी हेल्थकेयर सेक्टर में पूरा हस्तक्षेप है। आयुष्मान योजना काफी कारगर साबित हुई है। पिछले 2-3 वर्षों में हेल्थ सेक्टर में बड़े बदलाव देखने को मिले हैं। अन्य योजनाओं के साथ-साथ हेल्थकेयर सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए इसे प्राथमिकता मिलनी चाहिए। स्वास्थ्य सेवा सेक्टर में निवेश बड़ा और उसका रिटर्न बहुत धीमी गति से होता है। इसलिए इस सेक्टर को छूट दी जाए तो इसमें विकास अच्छा होगा। वहीं मेट्रो शहरों में काफी संख्या में अच्छे-अच्छे अस्पताल हैं, लेकिन छोटे शहरों में इनकी संख्या कम है। इतना ही नहीं छोटे शहरों में तो हॉस्पिटल बंद भी हो रहे हैं। इस पर सरकार को ध्यान देना चाहिए।

सरकार को हेल्थकेयर सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए हॉस्पिटल सेक्टर को प्रमोट करना होगा, क्योंकि हॉस्पिटल को बढ़ावा देने से न केवल हेल्थकेयर सेक्टर में सुधार होगा रोजगार भी बढ़ेगा, क्योंकि सर्विस सेक्टर के बाद हेल्थकेयर सेक्टर ही सबसे ज्यादा रोजगार पैदा करता है। खास बात ये है कि रोजगार में भी महिलाओं को सबसे ज्यादा रोजगार हेल्थकेयर सेक्टर में ही मिलता है और सभी श्रेणी में रोजगार मिलता है।

गांव कस्बों और छोटे शहरों में हेल्थकेयर सेक्टर को बढ़ावा देना चाहिए।
निवेश बढ़ाने के लिए स्टार्ट-अप्स को बढ़ावा मिलना चाहिए।
हेल्थकेयर पर जीएसटी का 2.5-3 फीसदी तक खर्च होना चाहिए।
हेल्थकेयर सेक्टर में सरकार को निजीकरण को बढ़ावा देना चाहिए।
हेल्थकेयर सेक्टर के लिए बजट में आवंटन 2-3 गुना तक बढ़ना चाहिए।
हेल्थकेयर सेवा को जीएसटी जीरो-रेटेड घोषित किया जाए।
प्राइमरी हेल्थकेयर इंफ्रा, टेक्नोलॉजी में निवेश पर टैक्स छूट मिलनी चाहिए।
कम टैक्स, सस्ते इंश्योरेंस प्रीमियम के जरिए निजी अस्पतालों को बढ़ावा दिया जाए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों में पीओके की आजादी के लिये ‘जुनून’ है : ठाकुर

जम्मू : केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर आगे पढ़ें »

पिछले पांच-छह साल में बढ़े हैं दलितों पर अत्याचार : प्रशांत भूषण

नयी दिल्ली : भीम आर्मी द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सामाजिक कार्यकर्ता व वकील प्रशांत भूषण ने सोमवार को आरोप लगाया कि पिछले पांच-छह साल आगे पढ़ें »

ऊपर