बजट : कैट ने वस्त्रमंत्री स्मृति ईरानी को कपड़ा क्षेत्र के विकास को लेकर सुझाव दिया

नई दिल्ली : केंद्र सरकार प्री बजट की तैयारियों के बीच उद्योग संगठन, व्यापारियों और प्रतिनिधियों से सुझाव ले रही है। इस बीच कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) का एक प्रतिनिधिमंडल कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल के नेतृत्व में केंद्रीय कपड़ा, महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी से मिला और देश के टेक्स्टाइल व्यापार से संबंधित समस्याओं का एक ज्ञापन उन्हें दिया। ज्ञापन में टेक्स्टाइल व्यापार की आयात निर्यात और जीएसटी से संबंधित समस्याओं का जिक्र किया है, वहीं दूसरी ओर देश के वस्त्र व्यापार को अधिक सुगम बनाने एवं नई संभावनाएं तलाशने पर भी जोर दिया है।

ईरानी ने प्रतिनिधिमंडल से बातचीत करते हुए कहा कि वो व्यापारी वर्ग के सहयोग से देश में वस्त्र व्यापार एवं उद्योग को उन्नत करने के लिए उत्सुक हैं। वैश्विक स्तर पर भारतीय वस्त्र उद्योग की पहचान चाहते हैं। प्रधानमंत्री मोदी के डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के अंतर्गत वस्त्र व्यापार को डिजिटल तकनीक से जोड़ना भी उनकी प्राथमिकता में है। उन्होंने कहा की विश्वभर में व्यापार करने का तौर तरीका तेजी से बदल रहा है और इस दृष्टि से भारत में भी व्यापारियों को अपने व्यापार में परिवर्तन लाने की आवश्यकता है और सरकार व्यापारियों के साथ सहयोग करने के लिए तत्पर है। कैट द्वारा सुझाव दिया गया है कि इस संदर्भ में देश की सभी प्रमुख कपड़ा व्यापारिक संगठनों का एक राष्ट्रीय सम्मेलन दिल्ली में आयोजित किया जाए, जिसमें व्यापारियों की समस्याओं पर विचार कर के समाधान निकाला जाए तथा सरकार की नीति को समझ कर वस्त्र व्यापारी पालन करें। ईरानी ने कैट के इस सुझाव को स्वीकार किया और जल्द ही ऐसे सम्मेलन में आने की स्वीकृति भी दी।

ईरानी ने इच्छा व्यक्त की है कि देशभर के व्यापारी संगठन महिला और बाल विकास के काम में भी सरकार के साथ जुटे, क्योंकि देश के हर हिस्से में व्यापारी हैं और आर्थिक के साथ सामाजिक बदलाव में भी बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। देश में ज्यादा से ज्यादा महिला व्यापारी को प्रोत्साहित किया जाए, वहीं महिला व्यापारियों की समस्याओं का प्राथमिकता के साथ निराकरण किया जाए। देश में महिला व्यापारियों के लिए सुलभता से व्यापार ने के लिए सुरक्षित व्यापारी माहौल तैयार करना जरूरी है। उन्होंने कहा की इसका मुख्य फोकस बिंदु भारत के व्यापारिक भाईचारे, महिला व्यापारियों के विकास और प्रोत्साहन, खुदरा व्यापार क्षेत्र में काम करने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षा और कौशल विकास में महिलाओं का अधिक प्रतिनिधित्व सुनिश्चहित किया जाए। उन्होंने कहा कि बाल श्रम देश में एक बड़ी समस्या है और व्यापारियों को अपने यहां बाल श्रम को रोकने में सरकार की सहायता करनी चाहिए, जिससे देश में बाल श्रम का उन्मूलन होगा। कैट प्रतिनिधिमंडल ने ईरानी के सुझाव का स्वागत करते हुए कहा की देश का व्यापारी वर्ग इस पहल में उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करेगा और महिला विकास के साथ साथ व्यापार में बाल श्रम उन्मूलन को भी प्रोत्साहित करेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Congress not accepting tejasvi's leadership

नीतीश कुमार ने जनता से किया विश्वासघात : तेजस्वी यादव

पटना : बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने मंगलवार को कहा कि मुख्यमंत्री एवं जनता दल (यूनाइटेड) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश आगे पढ़ें »

Sushil Modi statement about Narco Test

जदयू समेत कई दलों के सहयोग से लोकसभा में पारित हुआ नागरिकता संशोधन बिल : सुशील कुमार मोदी

पटना : बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने मंगलवार को कहा कि जनता दल (यूनाइटेड) , बीजू आगे पढ़ें »

ऊपर