बजट : अर्थव्यवस्था को सुस्ती से उबारने के लिए खपत को बढ़ाएगी सरकार

नई दिल्ली :  अर्थव्यवस्था में चल रहे लगातार सुस्ती से देश को उबारने के लिए सरकार खपत को बढ़ावा देना चाहती है, इसके लिए सरकार पब्लिक के पास पैसे की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने पर विचार कर रही है। केंद्र सरकार बजट 2020 में इंडिविजुअल इनकम टैक्स में कटौती के विभिन्न विकल्पों पर विचार कर रही है।

मोदी सरकार इस पर जल्द ही निर्णय ले सकती है। जानकारों के मुताबिक वित्त मंत्रालय इन विकल्पों पर विचार कर रहा है और साथ ही प्रत्यक्ष कर प्रणाली को सरल बनाने के सुझाव पर भी काम कर रहा है। आपको बता दें कि वित्त वर्ष 2020-21 का बजट एक फरवरी को पेश किया जाएगा, जिसमें घोषणा हो सकती है।

सुरक्षित लेनदेन के लिए इस बैंक ने वर्चुअल कार्ड जारी किए

सूत्रों के मुताबिक सरकार मौजूदा टैक्स स्लैब को नए सिरे से तय कर सकती है और इसके तहत ढाई लाख रुपये तक की छूट की सीमा को बढ़ाया जा सकता है। सरकार टैक्स सेविंग की सीमा बढ़ाने के भी विभिन्न ऑप्शन्स पर विचार कर रही है। इन्फ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड के जरिए टैक्स सेविंग पर भी सरकार विचार कर रही है, जिसके तहत एक साल में 50 हजार रुपये तक के इन्फ्रा बॉन्ड पर टैक्स सेविंग की सुविधा दी जा सकती है।

एयर इंडिया में बोली लगाने की यह है अंतिम तिथि, सरकार बेंच रही है 100 प्रतिशत हिस्सेदारी

डायरेक्ट टैक्स कोड से जुड़ी समिति ने सरकार को 10 लाख रुपये तक की सालाना आय पर 10 फीसद की दर से ही कर लेने का सुझाव दिया, अगर सरकार यह सुझाव मान लेती है तो इससे करदाताओं को काफी फायदा होगा। सरकार बजट में इन सिफारिशों को मान लेती है तो तो करीब 1.47 करोड़ टैक्सपेयर्स 20 फीसद के स्लैब से 10 फीसद के स्लैब में आ जाएंगे। आपको बता दें कि इससे पहले 2019-20 के बजट में इनकम टैक्स स्लैब में कोई बदलाब नहीं हुआ था ।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्वारंटाइन में होते हुए, कोरोना को पीढ़ दिखा अस्पताल में एक साथ पढ़ रहे है नमाज

हैदराबाद : दुनियाभर में महामारी का रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए देेशभर में 21 दिन के लिए लागू किये आगे पढ़ें »

कोरोना वायरस की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था में हो सकती है एक प्रतिशत की कमी : संरा

संयुक्त राष्ट्र : कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से दुनियाभर में फैली महामारी के कारण संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था 2020 में आगे पढ़ें »

ऊपर