फ्लिपकार्ट ने ऑन बोर्डिंग विक्रेताओें की मदद के लिए 13 क्षेत्रीय टीमों की तैनाती की

नई दिल्ली : भारत के अग्रणी ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस फ्लिपकार्ट ने देश के छोटे व्यावसायों को पहली बार ई-कॉमर्स अनुभव को बेहतर और आसान बनाने के लिए विक्रेताओं को अपने साथ जोड़ने की (ऑन बोर्डिंग) प्रक्रिया को नए सिरे से और उन्नत बनाया है। आसान पहुंच सुनिश्चित करने के लिए कंपनी ने देशभर में 13 क्षेत्रीय टीमों की तैनाती की है, जो ऑन बोर्ड विक्रेताओं के परिसर में जाकर उनसे मिलेंगे और व्यक्तिगत तौर पर उनकी मदद करेंगे।

प्लेटफॉर्म के साथ जुड़ने की प्रक्रिया में इन बदलावों से वैसे छोटे विक्रेताओं को आसानी होगी, जिनके पास प्लेटफाॅर्म पर अपने उत्पादों को लिस्ट करने के लिए पहले से डिजिटल विशेषज्ञता नहीं हो और इससे फ्लिपकार्ट के भारत भर में 150 मिलियन ग्राहकों तक पहुंचने में सहूलियत होगी। वर्तमान में भारत के कुल रिटेल उद्योग में ई-काॅमर्स की हिस्सेदारी 3 प्रतिशत से भी कम है, लेकिन आने वाले दशक में इसमें तेजी से विकास की संभावनाएं हैं। सरकार के अनुमान के अनुसार भारत में तकरीबन 60 मिलियन एमएसएमई हैं, जिनमें से अधिकांश संसाधनों को ऐक्सेस करने में कठिनाइयों के कारण स्थानीय बाजारों तक ही सीमित हैं। ऑनबोर्डिंग प्रक्रिया में यह सुधार देशभर के अधिक से अधिक छोटे विक्रेताओं को ई-काॅमर्स के दायरे में लाने की फ्लिपकार्ट की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

फ्लिपकार्ट ऐेसे पहल पर ध्यान केंद्रित कर रही है, जो विक्रेताओं को पोषित करता है और उसके मंच सो शुरुआत करने का अवसर प्रदान करता है। कंपनी विक्रेताओें को सीए ईको सिस्टम जैसे पहल के माध्यम से भी उनके कारोबार को बढ़ाने में मदद करती है। यह पहल वित्तीय और कराधान प्रक्रिया के साथ ‘विकास पूंजी’ में मदद करती है, जिससे विक्रेता कर्ज हासिल करने में सक्षम होते हैं। फ्लिपकार्ट ने विक्रेताओें को प्लेटफ़ॉर्म पर आने में मदद के लिए टियर-2 और शहर से इतर भी क्षेत्रीय टीमों को जोड़ा है। ये क्षेत्रीय टीमें लखनऊ, कोयंबटूर और जयपुर जैसे शहरों में हैं और 4300 से ज्यादा पिनकोड्स पर विक्रेताओं की जरूरतों को पूरा करती हैं।

फ्लिपकार्ट के ऑनबोर्डिंग मोर्चों पर प्रयासों का उदेश्य अपने उच्च गुणवत्ता मानकों को बनाए रखना और छोटे व्यवसायों के लिए अनुभव बढ़ाते हुए उन्हें बाजार तक पहुंच में सक्षम बनाना है। यह ऑर्डर की आपूर्ति, फर्स्ट मील और लास्ट मील लाॅजिस्टिक्स तथा आसान एवं सुगम भुगतान तंत्र में फ्लिपकार्ट की मजबूती से सहारा मिलेगा।

फ्लिपकार्ट के मार्केटप्लेस बिजनेस के प्रमुख निशांत गुप्ता ने कहा कि अपनी आॅनबोर्डिंग प्रक्रिया में सुधार कर और कई चरणों को आसान बनाकर, हम किसी भी विक्रेता चाहे उनका आकार कुछ भी हो, के लिए अपने प्लेटफाॅर्म पर लिस्ट कराने और पहले दिन से बिक्री शुरू करना आसान बना रहे हैं। स्वदेश में विकसित कंपनी होने के नाते हम जानते हैं कि ई-काॅमर्स का भविष्य अधिक से अधिक एमएसएमई और छोटे कारोबारों को आॅनलाइन लाने में ही निहित है। इसके परिणामस्वरूप रोजगार सृजन तथा निवेश को बढ़ावा मिलेगा और देश के सामाजिक-आर्थिक विकास में सार्थक योगदान दिया जा सकेगा।

फ्लिपकार्ट ने इन बदलावों को लागू किया है:
# प्रत्येक चरण के बारे में विस्तृत जानकारी ताकि इस बारे में पता चल सके कि वास्तव में क्या आवश्यक है
# दस्तावेजों की संख्या कम कर जीएसटी नंबर, रद्द किए गए चेक और हस्ताक्षर तक सीमित किया है
# जीएसटी नंबर के लिए एक चरण में सत्यापन, सेलर्स आॅनबोर्डिंग टीम द्वारा अतिरिक्त सपोर्ट ताकि सत्यापन के लिए इंतजार न करना पड़े
# उन्नत डैशबोर्ड इंटरफेस, जो विक्रेता को प्रोफाइल पूरा करने, पिनकोड पर सेवा की उपलब्धता आदि के बारे में निर्देशित करता है

शेयर करें

मुख्य समाचार

ordinence factory strike

देश की सभी ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों में हड़ताल

जबलपुर : केंद्र सरकार द्वारा देश के सभी रक्षा संस्थानों के निगमीकरण किए जाने के विरोध में देशभर की 41 ऑर्डिनेंस फैक्ट्रियों के करीब 83,000 कर्मचारी आगे पढ़ें »

zakir

जाकिर नाइक की बोलती बंद, मलेशिया ने धार्मिक भाषण देने पर लगाई रोक

कुआलालमपुर : मलेशिया में भड़काऊ भाषण देने के कारण इस्लामिक धर्म उपदेशक जाकिर नाइक पर पूरे देश में रोक लगा दी गई है। मलेशियाई सरकार आगे पढ़ें »

ऊपर