फूडटेक कंपनी डीएस ग्रुप ने नया ब्रांड ‘नेचर मिरेकल’ लॉन्च किया

नई दिल्ली : फूडटेक कंपनी डीएस ग्रुप ने हाइड्रोपोनिक्स तकनीक से उत्पादित ताजे फल और सब्जियों के लिए नया ब्रांड ‘नेचर मिरेकल’ लॉन्च करने की घोषणा करते हुए नीदरलैंड से इस क्षेत्र में विशेषज्ञता हासिल करते हुए देश में पहले पूरी तरह से स्वचालित हाइड्रोपोनिक ग्लास ग्रीनहाउस की ग्रेटर नोएडा में स्थापना की है। हाइड्रोपोनिक्स पानी में खनिज पोषक तत्वों के समाधान का उपयोग करके पौधों को उगाने की एक कृषि प्रौद्योगिकी है यानि मिट्टी का प्रयोग किए बिना सिर्फ पानी से खेती की जाती है।

फेसबुक इंडिया करेगा विस्तार, अब ये होंगे नए मार्केटिंग डायरेक्टर

कंपनी ने ग्रेटर नोएडा में चार हेक्टेयर क्षेत्र में फैले ग्लास ग्रीन हाउस को तापमान, आर्द्रता, ईसी, पीएच को नियंत्रित करने और अनुकूलित करने के लिए पूरी तरह से मशीनीकरण किया है, जहां पर विभिन्न प्रकार के फलों और सब्जियों का उत्पादन किया जा रहा है। ग्रुप का द नेचर मिरेकल के उत्पाद दिल्ली एनसीआर में हाई-एंड रिटेल और आधुनिक ट्रेड स्टोर में उपलब्ध हैं। इन उत्पादों के निर्यात के उद्देश्य से एफएसएसएआई प्रमाणन भी हासिल कर लिया है। ग्रुप ने द नेचर मिरेकल नाम से स्नैकिंग रेंज उतारी है जो अभी ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर बेची जाएगी। इसके साथ फिलहाल द नेचर मिरेकल के उत्पाद देश भर में आधुनिक खुदरा स्टोरों जैसे ली मार्ची, फूडहाल , बिग बाजार आदि में सेम्पल के रूप मे उपलब्ध करा रही है और लक्षित उपभोक्ता लिए मिल्क बास्केट जैसे विभिन्न डिजिटल प्लेटफार्मों पर प्रचारित किया जाएगा।

बजट में इस तरह रखती है सरकार आय और व्यय का हिसाब

ग्रुप के अनुसार परंपरागत तकनीक से पौधे और फसलें उगाने की अपेक्षा हाइड्रोपोनिक्स तकनीक के कई लाभ हैं। इस तकनीक से विपरीत जलवायु परिस्थितियों में उन क्षेत्रों में भी पौधे उगाए जा सकते हैं, जहाँ जमीन की कमी है अथवा वहाँ की मिट्टी उपजाऊ नहीं है। हाइड्रोपोनिक्स तकनीक से उगाई गइ सब्जियां और पौधे अधिक पौष्टिक होते हैं। हाइड्रोपोनिक्स एक पर्यावरण के अनुकूल और लाभदायक तकनीक है। खाद्य सुरक्षा की दृष्टि से इसके लाभ के लिए विभिन्न सरकारों और गैर-सरकारी संगठनों द्वारा इसे बढ़ावा दिया गया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना वायरस की वजह से वैश्विक अर्थव्यवस्था में हो सकती है एक प्रतिशत की कमी : संरा

संयुक्त राष्ट्र : कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से दुनियाभर में फैली महामारी के कारण संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था 2020 में आगे पढ़ें »

कोरोना से राहत के लिए लक्ष्मी मित्तल ने पीएम-केयर्स फंड में 100 करोड़ रुपये देने की घोषणा की

नई दिल्ली : दुनिया के हर कोने में लोगों को कोविड-19 के कारण व्यापक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।  भारत जैसे देश, जहां आगे पढ़ें »

ऊपर