फर्जी होलमार्किंग से बचने के लिए जौहरियों ने लिया यह बड़ा निर्णय, पढ़ें

नई दिल्ली : देशभर के जौहरियों ने सरकार से सोने की माप के लिए हॉलमार्किंग के मानकीकरण की मांग की है. जौहरियों का कहना है कि सोने की शुद्धता की माप के लिए कई तरह के मानक होने से सर्राफा उद्योग में असमंजस की स्थिति पैदा हो जाती है. वहीं इसे लेकर दिल्ली के जौहरियों ने फर्जी हाॅलमार्किंग से बचने के लिए हॉलमार्किंग सेंटर अपने सेंटर का लोगो भी ज्वैलरी पर अंकित करने का निर्णय लिया है.

अखिल भारतीय रत्न एवं आभूषण घरेलू परिषद (जीजेसी) ने उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय से अपील की है कि देशभर में हॉलमार्किंग शुद्धता के लिए मानकीकरण किया जाए. जीजेसी के उप-चेयरमैन शंकर सेन ने बताया कि हॉलमार्किंग प्रक्रिया में विभिन्न उत्पादों के 14, 18 और 22 कैरेट जैसे अलग-अलग मानक हैं. मान लीजिये अगर सोने की बिस्कुट और सिक्कों के लिए शुद्धता मानक क्रमश: 20 और 24 कैरेट हैं तो इससे असमंजस की स्थिति बन जाती है।

आपको बता दें कि हाल ही में चांदनी चौक के किनारी बाजार में फर्जी होलमार्किंग का रैकेट पकड़ा गया. यहां बड़ा रैकेट चल रहा था. भारतीय मानक ब्यूरो ने जब यहाँ छापेमारी की तब बड़े पैमाने पर ऐसी मशीनें मिलीं, जिनके जरिए फर्जी हालमार्किंग की जाती थी. फर्जी हालॅमार्किंग से बचने के लिए दिल्ली के जौहरियों ने एक बैठक में निर्णय लिया है कि सभी हॉल मार्क सेंटर ज्वैलरी की शुद्धता की जांच करने के बाद ज्वैलरी पर अपने सेंटर का लोगो भी अनिवार्य रूप से मार्क करेंगे.

बैठक में द बुलियन एंउ ज्वैलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष योगेश सिंघल ने कहा कि दिल्ली में मौजूद सभी 35 हॉलमार्किंग सेंटर ज्वैलरी पर अपने लोगो अंकित करेंगे.

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता और ओवैसी में ठनी

नई दिल्ली/कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की 'अल्पसंख्यक कट्टरता' को लेकर दी गई हिदायत पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) नेता असदुद्दीन आगे पढ़ें »

Bengal new Rajypal

फिर नहीं मिला हेलिकॉप्टर, राज्यपाल सड़क मार्ग से जाएंगे मुर्शिदाबाद

कोलकाता : राजभवन और राज्य सरकार के बीच चल रही खींचतान में हेलिकॉप्टर विवाद तुल पकड़ता जा रहा है। एक बार फिर राज्यपाल जगदीप धनखड़ आगे पढ़ें »

ऊपर