प्लास्टिक कचरे के निपटान के लिए एशिया का सबसे बड़ा पैकेजिंग वेस्टज मैनेजमेंट वेंचर लॉन्च

Plastic waste

नई दिल्ली : भारत में प्लास्टिक के कचरे को लेकर बढ़ती चिंता को दूर करने के लिए इंडस्ट्री की 31 प्रमुख कंपनियां ने एक साथ मिलकर एशिया का सबसे बड़ा वेंचर लॉन्च किया है। निर्माताओं के नेतृत्व और उनके स्वािमित्वम वाला यह वेंचर देश में सामान्य प्लायस्टिक सर्कुलर इकोनॉमी तैयार करने के लिए किया जा रहा है। हिस्सार ले रहीं ये कंपनियां संपत्ति, संसाधनों को एकजुट करेगी और उन्हें परिवर्तित करेगी तथा 1000 करोड़ से भी अधिक रुपये का निवेश करेंगी।

इस मौके पर अहमद अलशेख, प्रेसिडेंट पेप्सिको इंडिया, टी. कृष्णथकुमार, प्रेसिडेंट कोका-कोला इंडिया और साउथ वेस्टा एशिया और एंजेलो जॉर्ज, सीईओ बिस्ल री ने मिलकर नया वेंचर, करो संभव- क्लो जिंग मटेरियल लूप्स लॉन्चर किया। उन्होंेने ग्राहकों के इस्ते माल के बाद पैकेजिंग के कलेक्शान के लिये एक प्रभावी कड़ी बनाने तथा पर्याप्तो रूप से मटेरियल की रीसाइकलिंग प्रक्रिया के लिये यह वेंचर लॉन्चज किया है।

इस वेंचर से जुड़ने वाली अन्यक कंपनियों में शामिल हैं- डिएगो, पार्ले एग्रो, कैविन केयर, मंजूश्री, रिलायंस इंडस्ट्री ज, एससी जॉनसन, आईवीएल-धनसेरी, पर्ल ड्रिंक्सि, वरुण बेवरेजेस लिमिटेड तथा हिन्दुतस्ताजन कोका-कोला बेवरेजेस प्राइवेट लिमिटेड। एक्शुन एलाएंस फॉर रीसाइक्लिंग बेवरेज कार्टन्सर भी इस वेंचर को सहयोग कर रहा है। इस नए निर्माता नेतृत्व। वाले वेंचर को ‘पैकेजिंग एसोसिएशन फॉर क्ली्न एन्वॉ यरमेंट (पेस) ने पिछले एक सालों में तैयार और उसे शामिल किया है। उनका लक्ष्यो एक परिवर्तनकारी प्रणाली तैयार करना है, जिससे कि समावेशन, नीति, पारदर्शिता, बेहतर प्रशासन और वेस्टा का पता लगाने में सक्षम हो पाएं।

इस मौके पर पेस के प्रेसिडेंट विमल केडिया ने कहा कि इस अनूठे वेंचर का लक्ष्य) विभिन्नए प्रकार के पैकेजिंग मटेरियल के लिए मटेरियल लूप्स् को बंद करना है और यह एक साथ मिलकर भारत में 60 प्रतिशत वैल्यूत चेन लेकर आएगा। निर्माता अकेले जिस तरह का समाधान करते हैं, यह वेंचर कई सारे समाधानों का कंर्वेजेंस लेकर आएगा। कोका-कोला इंडिया और साउथ वेस्ट एशिया के प्रेसिडेंट टी. कृष्णरकुमार ने कहा कि यह विश्वािस दिलाना चाहते हैं कि हमारे सभी पैकेजिंग मटेरियल रीसाइकलिंग के लिए जाएंगे, कचरा भरने वाले क्षेत्र में नहीं। यह एक यात्रा है, जिसे हमें अपने साथियों के साथ मिलकर और भी ज्यारदा ठोस, दृढ़ और उल्लेनखनीय बनाने के लिये प्रयास करना होगा। इस लॉन्चम का हिस्सास बनने और निर्माता नेतृत्व वाले वेंचर के आगामी कार्यों में हिस्साी लेने की खुशी है।

वहीं इस मौके पर अहमद अलशेख, प्रेसिडेंट, पेप्सिको इंडिया ने अपनी बात रखते हुए कहा कि पेप्सिको में हम एक ऐसी दुनिया बनाने की कोशिश कर रहे हैं, जहां प्लाेस्टिक फिर कभी वेस्टा नहीं होगा। आज ‘करो संभव’ के लॉन्चए के साथ इस इंडस्ट्री ने संसाधनों को एकत्रित करने तथा अति आवश्यरक स्त र और प्लाास्टिक वेस्टं के कलेक्शचन व रीसाइकलिंग ईकोसिस्टिम की दक्षता को लाने के लिए एक ऐतिहासिक कदम उठाया है। हमारा मानना है कि यह वेंचर इस इंडस्ट्री को एकजुट करेगा ताकि देश में प्लाकस्टिक वेस्टक मैनेजमेंट को लेकर सरकार की दूरदृष्टि को सपोर्ट कर सकें और एकसाथ मिलकर उसे पूरा कर सकें।

वहीं बिस्लेमरी के सीईओ एंजेलो जॉर्ज ने कहा कि हम इस ऐतिहासिक वेंचर का हिस्साष बनकर काफी खुश हैं, जहां हम एक साथ मिलकर एक स्थालयी भविष्यओ का हल ढूंढने वाले हैं। इससे देशभर में छंटाई करने वाले तथा रीसाइकल वाले अत्याथधुनिक सेट-अप तैयार किए जा सकेंगे। इस नए वेंचर के सेट-अप का नेतृत्वे कर रहे प्रांशु सिंहल ने कहा कि इस वेंचर का लक्ष्यक पूरे भारतवर्ष में प्लाएस्टिक वेस्टै मैनेजमेट की एक प्रणाली तैयार करना, जिसके लिए हितधारकों के साथ साझीदारी की जा रही है और पारदर्शिता, दृढ़ता और स्तैर लाने के लिए तकनीक का प्रयोग किया जा रहा है।

यूएनआईडीओ के प्रतिनिधि रेने वैन बर्केल ने कहा कि प्ला‍स्टिक और पैकेजिंग वेस्ट भारत और विश्व भर में सबसे बड़ी और तेजी से बढ़ती समस्यार है। उद्योग प्रवर्तित वेंचर के लिए ‘पेस’ की प्लाास्टिक वेस्ट रीसाइकलिंग की पहल समय के अनुकूल और स्वाागत योग्यल है। इसके लिए यूएनआईडीओ साझीदारी करने को पूरी तरह तैयार है। इस वेंचर की योजना पूरे देशभर में 125 मटेरियल रिकवरी फेसिलटी का नेटवर्क तैयार करना है, जोकि अगले 3 सालों में 2500 एग्रीगेटर्स के साथ मिलकर काम करेंगे। अलग-अलग चरणों में इस प्रोजेक्टे के स्तहर को और ऊपर ले जाया जाएगा।

इन पहलुओं पर ध्या न केंद्रित किया जाएगा…
सरकार के ‘स्वटच्छ‍ भारत मिशन’ और जीरो-वेस्टज मैनेजमेंट के साथ साझेदारी
रीसाइकलिंग के बाद सेकेंडरी मटेरियल को प्रयोग में लाने के लिए सक्षम बनाना
यह सुनिश्चित करना कि कोई भी रीसाइकल योग्यक पैकेजिंग मटेरियल कचरा भरने वाले क्षेत्र में नहीं जाएगा
पैकेजिंग मटेरियल के लिनियर वैल्यूक चेन को एक मजबूत तथा कुशल रीसाइकल योग्यर मटेरियल सर्कुलर इकोनॉमी में बदलना

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोनम वांगचुक के चीनी उत्पादों के बहिष्कार अभियान को व्यापारियों का मिला समर्थन

नई दिल्ली : कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने कहा है कि देश के सात करोड़ व्यापारी लद्दाख के शैक्षिक सुधारक सोनम वांगचुक के आगे पढ़ें »

पूर्व पाक कप्तान हनीफ का दावा, 1983 में हॉकी टीम के सदस्‍य तस्‍करी में लिप्‍त थे 

कराची : पाकिस्तान के पूर्व हॉकी कप्तान हनीफ खान ने आरोप लगाया कि 1983 में हांगकांग से वापस आते समय उनकी टीम के कुछ खिलाड़ियों आगे पढ़ें »

ऊपर