विमानन कंपनियां अपने वित्तीय प्रदर्शन के लिये खुद जिम्मेदारः प्रभु

Fallback Image

नयी दिल्लीः नागर विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने जेट एयरवेज संकट तथा घरेलू विमानन उद्योग में सुस्ती के मद्देनजर कहा है कि दक्ष परिचालन एवं वित्तीय प्रदर्शन विमानन कंपनियों का निजी दायित्व है और सरकार उनके दैनिक परिचालन में दखल नहीं दे सकती है। कड़ी प्रतिस्पर्धा, बढ़ती लागत, पायलटों की कमी और विमानों के खड़े किये जाने से घरेलू विमानन कंपनियों को हो रही दिक्कतों के बारे में प्रभु ने कहा कि सरकार उद्योग जगत की परिस्थितियों को देखते हुये लगातार कदम उठा रही है। विमानन ईंधन पर सीमा शुल्क 14 प्रतिशत से घटाकर 11 प्रतिशत करने समेत सरकार की तरफ से उठाये गये कदमों का उन्होंने जिक्र किया। जेट एयरवेज को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। कंपनी को विमानों को खड़ा करना पड़ा है जिससे कई उड़ानें रद्द हुई हैं। इसके अलावा पायलटों को वेतन का भुगतान करने में भी कंपनी को दिक्कतें आ रही हैं। प्रभु ने कहा कि सभी विमानन कंपनियां बाजार विश्लेषण और वित्तीय संसाधनों के आधार पर अपनी कारोबारी योजना तैयार करती हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा से मिलती है…

कोलकाताः शास्त्रों के अनुसार नवरात्रि की षष्ठी तिथि मां कात्यायनी की पूजा को समर्पित है। मां दुर्गा का यह छठा स्वरूप बहुत करुणामयी है। माना आगे पढ़ें »

आज महाषष्ठी : दोपहर से ही निकले लोग, रोशनी से नहाया कोलकाता

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आज यानी शनिवार को महाषष्ठी है। वहीं शुक्रवार को पंचमी के दिन दोपहर से ही लोग घरों से बाहर निकल पड़े। इधर, आगे पढ़ें »

ऊपर