पीएम मोदी से कैट ने की अपील, कोरोना के व्यापार पर प्रभाव को लेकर समिति गठित की जाए

नई दिल्ली : कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र भेजकर चीन से शुरू हुए कोरोना वायरस के कारण भारत के व्यापार और लघु उद्योग और आपूर्ति श्रृंखला पर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर मंत्रियों के समूह के गठन का आग्रह किया है, जिससे कोरोना वायरस के कारण देश के व्यापार एवं लघु उद्योग तथा आपूर्ति श्रंखला को सुचारु रूप से चलाए जाने को लेकर समाधान निकाला जा सके।

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने प्रधानमंत्री को भेजे पत्र में कहा है की पिछले एक दशक से अधिक समय के दौरान चीन ने भारत के व्यापार और लघु उद्योग में गहरी जड़ें जमाई हैं, जिसके चलते तैयार माल की आपूर्ति करके या छोटे उद्योगों द्वारा आवश्यक कच्चे माल की आपूर्ति करके या बड़ी मात्रा में विभिन्न वस्तुओं के लिए स्पेयर पार्ट्स की आपूर्ति करके जो असेम्ब्लिंग इकाइयों द्वारा सामान बनाने में काम आते हैं। इसका बड़े पैमाने पर आयात चीन से भारत में हो रहा है, चीन से आयात आसान और सस्ता होने के कारण इस दौरान भारतीय आयातकों ने विश्व में किसी भी अन्य देश में पर्याप्त वैकल्पिक स्रोत नहीं खोजे।

चीन में अभी व्यापार निर्यात पूरी तरह से बंद हैं, इससे हमारे देश की आपूर्ति श्रृंखला बाधित हो रही है। कैट का कहना है कि प्रधानमंत्री मोदी मंत्रियों के समूह का गठन करें जो निर्बाध आपूर्ति श्रृंखला सुनिश्चित करने के लिए सभी पहलुओं पर गौर कर सके और उत्पादन क्षमता के तत्काल विस्तार के लिए आवश्यक सुविधाएँ देने का आकलन कर सके तथा लागु उद्योगों की प्रोडक्शन क्षमता को किस प्रकार बढ़ाया जा सकता है, उस पर गम्भीरतापूर्वक विचार करे। कैट का सुझाव है कि मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत भारत में उत्पादन सुविधाओं को स्थापित करने के लिए अधिक से अधिक लोगों को प्रोत्साहित करके विश्व में भारत को चीन का वैकल्पिक बनाने की संभावनाओं पर विचार करते हुए आवश्यक कदम उठाये जाएँ. कैट का कहना है कि मंत्रियों के समूह को इस बात की जाँच करनी चाहिए कि क्या चीन से सामानों का आयात या अन्य देशों के चीनी सामानों के आयात से भारतीय नागरिकों के स्वास्थ्य को कोई खतरा है और यदि ऐसा है, तो उपचारात्मक कदम होना चाहिए।

भारतीय व्यापारियों और छोटे उद्योगों को अपनी उत्पादन क्षमता को मजबूत करने के लिए एक पैकेज प्रदान करने के लिए तत्काल कदमों की आवश्यकता है ताकि आपूर्ति श्रृंखला का प्रवाह न रुके। दीर्घकालिक उपायों के तहत सरकार को यह सुनिश्चित करने के तरीकों और साधनों पर भी ध्यान देना चाहिए कि किसी भी देश पर बड़ी मात्रा में आयात की निर्भरता नहीं होनी चाहिए, क्योंकि यह हमारी अर्थव्यवस्था को अपंग कर देगा। कैट ने इस मुद्दे पर देश भर के 7 करोड़ व्यापारियों के सहयोग का आश्वासन दिया है ।

शेयर करें

मुख्य समाचार

क्रिकेट नहीं हुए तो इंग्लैंड व वेल्स क्रिकेट बोर्ड को 30 करोड़ पौंड का नुकसान

लंदन : इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के प्रमुख टॉम हैरिसन ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण अगर आगामी सत्र में क्रिकेट नहीं आगे पढ़ें »

विम्बलडन रद्द होने का असर नहीं, तय समय पर हीअमेरिकी ओपन : आयोजक

न्यूयार्क : कोरोना वायरस महामारी के कारण विम्बलडन रद्द हो गया और फ्रेंच ओपन स्थगित कर दिया गया लेकिन अमेरिकी ओपन के आयोजकों ने कहा आगे पढ़ें »

क्यूबा का ओलंपिक चैंपियन पहलवान बोरेरो कोरोना की चपेट में

2011 विश्‍व कप : धोनी के विजयी छक्के को ज्यादा त्वज्जो देने से गंभीर नाराज, कहा- पूरी टीम की वजह से बने थे विश्व चैम्पियन

मूडीज इन्वेस्टर्स ने बैंकिंग सेक्टर के लिए अनुमान स्थिर से नेगेटिव किया

पीएम केयर्स फंड में दो साल का वेतन देंगे गौतम गंभीर

टोक्यो ओलंपिक पर समर्थन के लिये आईओसी प्रमुख बाक ने मोदी का आभार जताया

डकवर्थ-लुईस नियम बनाने वाले 78 साल के गणितज्ञ लुईस का निधन

चीन की मैन्यूफैक्चरिंग रिकवरी क्रूड के लिए अच्छा सौदा, सोने की चमक फीकी

पंत के छक्का लगाने के चैलेंज पर रोहित ने कहा- उसे खेलते हुए एक साल भी नहीं हुआ और चुनौती दे रहा

ऊपर