पीएम आज करेंगे आम लोगों के लिए कई योजनाओं का शुभारंभ

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आम लोगों के हित में कई बड़ी योजनाएं शुरू करने जा रहे हैं। पीएम मोदी झारखंड के राजधानी रांची में किसानों और छोटे दुकानदारों के लिए पेंशन योजना लॉन्च करेंगे और साथ ही झारखंड के नए विधानसभा भवन का भी उद्घाटन करेंगे। वे जनजातीय इलाकों के बच्चों की अच्छी शिक्षा के लिए 462 एकलव्य मॉडल विद्यालयों को भी लोकार्पण करेंगे।

पीएम मोदी आज झारखंड दौरे पर हैं और उनका यह दौरा किसानों और खुदरा दुकानदारों के लिए बहुत ही महत्व रखता है, क्योंकि वे आज छोटे और सीमांत किसानों के लिए पेंशन योजना (पीएम किसान मानधन योजना ‘पीएम-केएमवाई’) और खुदरा व्यापारियों के लिए स्वरोजगार तथा पेंशन योजना की घोषणा करने जा रहे हैं। आपको बता दें कि पीएम मोदी ने अपने पहले कार्यकाल में प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना शुरू की थी, जिसके तहत देशभर के हर किसान को 6,000 रुपये सालाना की आर्थिक मदद दी जाती है। किसानों को 2,000-2,000 रुपये की तीन किस्तों में पैसे उनके बैंक में ट्रान्सफर किया जाता है।

प्रधानमंत्री अब किसानों के लिए पेंशन योजना (किसान मानधन योजना) शुरू करने जा रहे हैं। पेंशन योजना में किसानों को हर महीने 3000 रुपये की पेंशन मिलेगी। केंद्रीय कृषि मंत्रालय के मुताबिक किसान मानधन योजना में अब तक देशभर के 8 लाख से अधिक किसान अपना रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं। इस योजना के लिए पिछले महीने 9 अगस्त को रजिस्ट्रेशन शुरू हुए थे। भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा चलाए जा रहे पेंशन योजना में प्रीमियम की आधी रकम किसान को देनी होगी और आधी रकम केंद्र सरकार देगी।

पीएम किसान मानधन योजना का फायदा उठाने के लिए किसान को कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा, जिसके लिए आधार कार्ड और खसरा-खतौनी की नकल ले जानी होगी। रजिस्ट्रेशन के लिए दो फोटो और बैंक की पासबुक की जरूरत होगी। रजिस्ट्रेशन के लिए किसान को अलग से कोई भी फीस नहीं देनी होगी, रजिस्ट्रेशन पूरी तरह से फ्री है। रजिस्ट्रेशन के दौरान किसान का किसान पेंशन यूनिक नंबर और पेंशन कार्ड बनाया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अल्पसंख्यकों के लिए सबसे सुरक्षित देश है भारतः मालदीव के पूर्व राष्‍ट्रपति मोहम्मद नशीद

नयी दिल्ली : नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर देशभर में विशेषकर पूर्वोत्तर राज्यों में हिंसात्मक विरोध जारी है। इस बीच भारत के पड़ोसी देश मालदीव आगे पढ़ें »

बंगाल में भी कैब का विरोध,परेशानियों में ‌घिरे मंत्री से लेकर आम जनता

सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाता : नागरिकता संशोधन विधेयक (कैब) के कानून बनने के बाद अब पश्चिम बंगाल का मुस्लिम समुदाय इसके विरोध में सड़क पर उतर आगे पढ़ें »

ऊपर