पीएमओ में शक्ति का ‘सेंट्रलाइजेशन’ भी है मंदी का कारण : पूर्व गवर्नर

नई दिल्ली : भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने कहा है कि भारत ‘मंदी’ के भंवर में फंस गया है और देश की इकोनॉमी की स्थिति भारी सुस्ती की ओर इशारा कर रही है। लंबे समय तक सुधार के आसार नजर नहीं आ रहे हैं।

उन्होंने इस स्थिति के लिए पीएमओ में शक्ति के ‘सेंट्रलाइजेशन’ को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा है कि मंत्रियों के पास शक्ति नहीं होने से भी यह स्थिति पैदा हो गई है। देश की अर्थव्यवस्था को सुस्ती के दौर से निकालने के लिए अपनी सिफारिशों में उन्होंने मौद्रिक, भूमि, श्रम बाजार में उदारीकरण पर जोर दिया।

रघुराम राजन ने कहा कि निवेश एवं आर्थिक वृद्धि को बढ़ाने के लिए भी उपाय करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि प्रतिस्पर्धा बढ़ाने एवं घरेलू क्षमताओं को बेहतर बनाने के लिए भारत से विवेकपूर्ण तरीके से मुक्त व्यापार समझौते करने पर जोर दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

छात्रों के प्रदर्शन के आगे झुका कोलकाता विश्वविद्यालय

चांसलर को मंच पर आने की नहीं मिली अनुमति बिना चांसलर के ही हुआ दीक्षांत समारोह शर्मसार हुआ शिक्षा जगत सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पश्चिम बंगाल में छात्रों की आगे पढ़ें »

dhankhad

लंबे समय तक याद रहेगा यह तमाशा – राज्यपाल

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कलकत्ता विश्वविद्यालय के मंगलवार के दीक्षांत समारोह में भाग लेने में विफल रहने से नाराज राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि जिन आगे पढ़ें »

ऊपर