पाकिस्तान ने भारत को इस क्षेत्र में दिया राहत

नई दिल्ली : पडोसी पाकिस्तान ने भारत को विमानन क्षेत्र में राहत दी है। पाकिस्तान ने अपने वायुक्षेत्र को भारत के यात्री विमानों के लिए खोलने की घोषणा कर दी है, इससे देश की विमानन कंपनियों को बड़ी राहत मिलेगी। इन कंपनियों के लिए यूरोप के कई देशों तक पहुंचने का रास्ता काफी छोटा जो जाएगा। पाकिस्तान ने फरवरी में बालाकोट में भारत की ओर से किए गए हवाई हमलों के बाद भारतीय विमानों के लिए अपना एयरस्पेस बंद कर दिया था। पाकिस्तान के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने रात 12. 41 बजे नोटिस जारी कर हवाई क्षेत्र को खोलने के बारे में जानकारी दी।

इस नोटिस में कहा गया है कि पाकिस्तान का हवाई क्षेत्र तत्काल प्रभाव से भारत के सभी यात्री विमानों के लिए खोला जाता है। पाकिस्तान काफी महत्वपूर्ण एविएशन कॉरिडोर के बीच में आता है और पश्चिम की ओर जाने वाले कई विमानों केा इसी रास्ते से हो कर जाना पड़ता है, जिससे सैकड़ों की संख्या में यात्री और मालवाहक विमान पाकिस्तान के ऊपर से गुजरते हैं।

पाकिस्तान की ओर से एयर स्पेस बंद किए जाने से विमानों को काफी घूम कर जाना पड़ रहा था, जिससे विमानों का तेल खर्च और गंतव्य तक पहुंचने में लगने वाला समय बढ़ गया था। विमानों को उड़ने की अनुमति देने के बदले में पाकिस्तान को प्रति उड़ान औसतन 500 डॉलर मिलते थे, लेकिन एयरस्पेस बंद होने से पाकिस्तान की कमाई भी प्रभावित हो रही थी।

विमानन कंपनियों हुआ था नुकसान
पाकिस्तान का एयरस्पेस बंद होने से 2 जुलाई तक एयर इंडिया को 491 करोड़ का नुकसान हुआ था। दरअसल भारत से अमेरिका और यूरोप जाने वाली एयर इंडिया व अन्य विमानन कंपनियों की उड़ानों को पाकिस्तान के ऊपर से जाना पड़ता है, लेकिन अनुमति न मिलने से विमानन कंपनियों को काफी घूम कर जाना पड़ता है। देश की निजी विमानन कंपनियों इंडिगो, स्पाइसजेट और गो एयर को भी वायु क्षेत्र बंद होने से लगभग 60 करोड़ का नुकसान हुआ था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ऊपर