पांच जुलाई को पेश होगा आम बजट, उद्योग संगठन ने दिए ये सुझाव

नई दिल्ली : उद्योग मंडल एसोचैम ने अपने रिपोर्ट में मुद्रास्फीति के दबाव का हवाला देते हुए व्यक्तिगत आयकर सीमा 02. 50 लाख रुपये से बढ़ाकर 5 लाख रुपये करने का सुझाव दिया है। एसोचैम ने वित्त मंत्रालय को बजट के पूर्व ज्ञापन दिया है, जिसमें एसोचैम ने कई सुझाव दिए हैं। ज्ञापन में एसोचैम ने कहा कि वर्षों से मुद्रास्फीति के प्रभाव को देखते हुए व्यक्तिगत आय कर छूट सीमा 2,50,000 रुपये से बढ़ाकर 5,00,000 रुपये किया जाना चाहिए। सरकार चालू वित्त वर्ष का अपना पूर्ण बजट पांच जुलाई को पेश करेगी।

उद्योग मंडल ने ज्ञापन में सुझाव दिया है कि वेतनभोगी और गैर-वेतनभोगी करदाताओं के बीच जरूरी समानता लाने के लिए मानक कटौती को फिर से कानूनी रूप से बहाल किए जाने पर गौर करना चाहिए। मान लिया जाए 1,00,000 रुपये तक के सकल वेतन का करीब 20 प्रतिशत मानक कटौती के लिए विचार किया जा सकता है। उद्योग मंडल ने कहा कि वेतन भोगी और कारोबार/अपना काम करने वालों के बीच अंतर है, जिसके कारण वेतनभोगियों को अधिक कर देना होता है।
एसोचैम ने आम करदाताओं के साथ अधिक खर्च योग्य आय छोड़ने के लिए चिकित्सा व्यय, अवकाश यात्रा व्यय जैसे खर्चों पर राहत का सुझाव दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोरोना की वजह से 9वीं-12वीं के पाठ्यक्रम 30 फीसदी घटे

नयी दिल्ली : कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच स्कूलों के ना खुल पाने के कारण शिक्षा व्यवस्था पर असर और कक्षाओं के समय में आगे पढ़ें »

बंगाल के संक्रमित जोन में 9 जुलाई से लगेगा पूर्ण लॉकडाउन

कोलकाता : बंगाल में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से संक्रमित जोन में 9 जुलाई शाम 5 बजे से पूरी तरह से आगे पढ़ें »

ऊपर