पर्यटन मंत्रालय ने 2020 तक दो करोड़ विदेशी टूरिस्टों का लक्ष्य रखा

नई दिल्ली : पर्यटन मंत्रालय ने साल 2020 तक दो करोड़ विदेशी टूरिस्टों को ध्यान में रखकर देश के टॉप टूरिस्ट प्लेस पर विदेशी भाषाओं में साइन बोर्ड लगाने, ई-वीजा एप्लीकेशन के टाइम को कम करने और वीजा फीस में भी कमी करने की योजना बनाई है।  मंत्रालय मध्य प्रदेश के सांची स्तूप, उत्तर प्रदेश के सारनाथ और बिहार के बोधगया जैसे स्थानों पर कम से कम तीन विदेशी भाषाओं सिंहला, जापानी और कोरियाई भाषा में साइन बोर्ड लगाने जा रही है, जहां श्रीलंका, जापान और दक्षिण कोरिया से बड़ी संख्या में टूरिस्ट आते हैं।

इन साइन बोर्ड में क्यूआर कोड भी होंगे, जिसे स्कैन करने पर स्मारक, उसके इतिहास और सभी जानकारी उस भाषा में दी जाएगी। पर्यटन राज्य मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल के मुताबिक अभी यह योजना शुरूआती स्टेज में है, एक बार मंजूरी मिलने के बाद यह स्कीम विदेशी टूरिस्टों को बढ़ावा देने में मदद करेगी। मंत्रालय शुरू में बड़े स्मारकों की पहचान करेगा और बाद में एक डेटा जारी किया जाएगा, जिसमें पता लगाया जाएगा कि उस स्मारक को देखने किन देशों के टूरिस्ट सबसे ज्यादा आते हैं। इसके बाद उन देशों की भाषा में साइन बोर्ड लगाएगा।

तीन विदेशी भाषाओं में साइन बोर्ड लगाने की योजना बनाई जा रही है। साथ ही क्यूआर कोड भी लगाया जाएगा, जो एक गाइड की तरह स्मारक के बारे में जानकारी मुहैया कराएगा। इस फैसले से सांची स्तूप जैसे स्मारकों पर टूरिस्टों की संख्या को बढ़ावा मिलेगा, यहां श्रीलंका के टूरिस्ट सबसे ज्यादा आते हैं। योजना के मुताबिक, साइन बोर्ड से विदेशी टूरिस्टों को विभिन्न दिशाओं में क्या है, इसकी जानकारी देने के साथ ही स्मारक के इतिहास और महत्व की भी जानकारी दी जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अमेरिका का बजट घाटा एक हजार अरब डॉलर के पार !

बजट कार्यालय ने व्यक्त किया अनुमान वाशिंगटनः अगले वित्त वर्ष में अमेरिका का बजट घाटा एक हजार अरब डॉलर के पार जाने की आशंका है। यह आगे पढ़ें »

new zealand speaker

न्यूजीलैंड : संसद में रो रहे बच्चे को स्पीकर ने पियाला दूध, लोगों ने की सराहना

वेलिंगटन : न्यूजीलैंड के संसद भवन में स्पीकर ट्रेवर मलार्ड ने एक सांसद के बेटे को दूध पिलाया। मालूम हो कि संसद भवन में आमतौर आगे पढ़ें »

ऊपर