पनडुब्बियां बनाने के लिए ये कंपनियां आई साथ, इस तरह होगी अधिकारियों की भर्ती

नई दिल्ली : हिंदुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड (एचएसएल) ने दो अन्य सरकारी कंपनियों के साथ पनडुब्बियां बनाने के लिए हाथ मिलाया है और इस समूह में शामिल दो अन्य सरकारी कंपनियां भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) और मिश्र धातु निगम लिमिटेड (मिधानी) भी शामिल हुई हैं। यह बातें हिंदुस्तान शिपयार्ड ने अपने एक बयां में कही है।

इस करार का लक्ष्य तीनों कंपनियों की विशेषज्ञता का लाभ उठाकर देश को पनडुब्बी निर्माण का भरोसेमंद तथा घरेलू विकल्प उपलब्ध कराना है। तीनों कंपनियों का समूह छह पनडुब्बियां बनाने के लिए रक्षा मंत्रालय के समक्ष निविदा दायर करेगा। नौसेना में अधिकारियों की अब सीधी भर्ती नहीं की जाएगी। अब अधिकारियों की भर्ती ऑनलाइन परीक्षा के जरिए की जाएगी। नौसेना की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार भारतीय नौसेना के लिए प्रवेश परीक्षा सितंबर से शुरू होने जा रही है, जो साल में दो बार आयोजित की जाएगी। अब हर साल लगभग 400 नौजवान नौसेना में सीधे अधिकारी बनेंगे। स्थाई कमीशन और शॉट सर्विस कमीशन दोनों के लिए इस परीक्षा से उम्मीदवार चुने जाएंगे और भर्ती कैंपस प्लेसमेंट और यूपीएससी के जरिए होगी। यहां बीटेक व अन्य पेशेवर डिग्री के अंकों के आधार पर चयन किया जाएगा।

रक्षा मंत्रालय ने छह पारंपरिक पनडुब्बियों के स्वदेशी निर्माण की रूपरेखा तैयार की है। एचएसएल, भेल और मिधानी के प्रतिनिधियों ने एचएसएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक रियर एडमिरल एल. वी. शरदबाबू की उपस्थिति में इस समझौते पर हस्ताक्षर किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

sjayshanker

‘नेपाल-भारत संयुक्त आयोग’ की 5वीं बैठक में शामिल होने नेपाल जाएंगे विदेश मंत्री

काठमांडू : विदेश मंत्री एस जयशंकर ‘नेपाल-भारत संयुक्त आयोग’ की 5वीं बैठक में शामिल होने इस सप्ताह नेपाल जाएंगे। इस बैठक में जयशंकर द्विपक्षीय संबंधों आगे पढ़ें »

dhule

महाराष्ट्र : बस और ट्रक के बीच भीषण टक्कर में 15 की मौत ,कई घायल

धुले : महाराष्ट्र के धुले में एक दर्दनाक हादसा होने का मामला सामने आया है। यहां एक बस और ट्रक के बीच हुए भीषण टक्कर आगे पढ़ें »

ऊपर