‘पतंजलि को बनाएंगे बहुराष्ट्रीय कंपनी’

नई दिल्ली . योगगुरु बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण नेपाल के रास्ते पतंजलि योगपीठ को बहुराष्ट्रीय कंपनी (एमएनसी) बनाने की योजना पर काम कर रहे हैं। खुद को बहुराष्ट्रीय कंपनियों की श्रेणी में शामिल करने की दिशा में बाबा रामदेव ने हरिद्वार स्थित पतंजलि फ़ूड पार्क पहुंचे नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड के सामने घोषणा की कि नेपाल में पतंजलि योगपीठ, आचार्यकुलम, पतंजलि फ़ूड पार्क बनेगा। उन्होंने साफ कहा कि यह भारत से बाहर स्थापित होने वाली पतंजलि की पहली इकाई होगी पर अंतिम नहीं। पतंजलि सूत्रों के अनुसार यह एक सोची-समझी नियोजित योजना का हिस्सा है।

भारत में बहुराष्ट्रीय कंपनियों से लगातार मुकाबला कर रहे बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण दोनों पतंजलि को भारत के बाहर भी उनके मुकाबले में उन्हीं के आकार और स्वरूप में खड़ा करने की सोच रहे हैं। नेपाल इस दिशा में उनका पहला कदम होगा। नेपाल के प्रधानमंत्री के सम्मान समारोह में बाबा ने कहा कि नेपाल के बाद आगे चलकर कमजोर अर्थव्यवस्था वाले अन्य देशों में भी वह वहां के विकास को ध्यान में रखकर पतंजलि की इकाइयां स्थापित करेंगे। नेपाल में वह पतंजलि की इकाई को अपने व्यवसायिक और वाणिज्य हितों को ध्यान में रखकर स्वतंत्र रूप से स्थापित कर रहे हैं ताकि आगे चलकर कारोबार को और मजबूत किया जा सके। वैसे भी बाबा रामदेव आगामी दस वर्षो में पतंजलि योगपीठ के व्यापार को 50 हजार करोड़ करने का दावा पहले ही कर चुके हैं।

नेपाल में खुलेगा पतंजलि फूड पार्क समारोह मे स्वामी रामदेव ने घोषणा की कि नेपाल में पतंजलि योगपीठ, आचार्यकुलम, पतंजलि फ़ूड पार्क के ‌लिए अगले माह से काम शुरू कर दिया जाएगा। इसके अलावा पतंजलि योगपीठ के प्रकल्पों आचार्यकुलम, पतंजलि विवि, योग केंद्र और पतंजलि उत्पादन इकाई पतंजलि हर्बल एवं फूड पार्क (पदार्था) का निर्माण कराएंगे। पर, इन सभी प्रकल्पों से होने वाली आय को भारत नहीं लाया जाएगा, बल्कि इसका इस्तेमाल वहीं व्यवसाय को बढ़ावा देने में किया जाएगा। इस दौरान नेपाल के प्रधानमंत्री ने कहा कि मेरे भारत दौरे से दोनों देशों के मैत्रिक रिश्ते मज़बूत होंगे। दोनों देश मिलकर आगे बढ़ेंगे। पतंजलि जैसे संस्थान खुलने से देश में समृद्धि आएगी।

—————————

अंतरष्ट्रीय बाजार में संभावनाएं तलाश रहे रामदेव

बाबा के अनुसार समूह रोजमर्रा के उत्पादों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में संभावना तलाशने को तैयार हैं और भविष्य में पाकिस्तान तथा अफगानिस्तान में भी दस्तक दे सकते हैं। रामदेव ने कहा, ‘हमने पहले ही नेपाल और बांग्लादेश में इकाइयां लगाई हैं और हमारे उत्पाद पश्चिम एशिया पहुंच चुके हैं तथा सऊदी अरब समेत कुछ देशों में लोकप्रिय हुए हैं।’

पाकिस्तान-अफगानिस्तान पर नजरः बाबा ने कहा कि पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बाजारों में प्रवेश मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर निर्भर करेगा और अगर स्थिति राजनीतिक रूप से अनुकूल रही तो वहां इकाइयां लगायी जाएंगी।’ बाबा ने कहा कि कंपनी के उत्पाद कनाडा तक पहुंच रहे हैं।

अजरबैजान में भी दस्तकः पतंजलि समूह अजरबैजान में भी दस्तक दे चुका है, जहां 90 प्रतिशत आबादी मुस्लिम है और एक प्रमुख उद्योगपति ने उनके उत्पादों में दिलचस्पी दिखाई है। उन्होंने कहा कि परिधान के साथ रिफाइंड खाद्य तेल भी इस साल पेश किया जाएगा।

‘स्वदेशी जींस’ का शगूफा

इससे पहले बाबा ने युवाओं की मांग को देखते हुए ‘स्वदेशी जींस’ का शगूफा भी छाेड़ा है। बाबा रामदेव ने कहा कि युवाओं की तरफ से अच्छी मांग के चलते पतंजलि ने विदेशी ब्रांड से टक्कर लेने के लिये स्वदेशी जींस पेश करने का फैसला किया है। इसका ऐलान नागपुर में फूड एंड हर्बल पार्क के उद्घाटन के मौके पर बाबा रामदेव ने किया और उम्मीद जताई कि स्वदेशी जींस को इस साल के अंत तक या अगले साल लॉन्च कर दिया जाएगा।

‘रिसर्च कर रहे 200 वैज्ञानिक’

रामदेव ने कहा, ‘रोजमर्रा के उपयोग वाले सेक्शन में हमारा 50 लाख करोड़ रुपये का लक्ष्य है।’ उन्होंने कहा कि पतंजलि गुणवत्तापूर्ण उत्पाद पेश करने को लेकर प्रतिबद्ध है और अनुसंधान एवं विकास इकाइयां लगाई हैं जहां करीब 200 वैज्ञानिक काम कर रहे हैं। इससे बहुराष्ट्रीय कंपनियों पर अनुसंधान एवं विकास के साथ उत्पाद लाने का दबाव बढ़ा है।

विवादों का साया भी

पतंजलि के दो और विज्ञापन भ्रामक: एएससीआई

एडवर्टाइजिंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया यानि एएससीआई और पतंजलि के झगड़े में जहां पतंजलि एएससीआई को कोर्ट तक घसीट ले गया है। वहीं एएससीआई ने अपनी ताजा रिपोर्ट में फिर से पतंजलि के दो और विज्ञापनों को भ्रामक बताया है। एएससीआई की इस रिपोर्ट में कुल 159 शिकायतों में से 98 को सही पाया गया है। और एएससीआई ने शिक्षा से लेकर ई-कॉमर्स तक इन सभी विज्ञापनों को रोकने को कहा है। एएससीआई ने पतंजलि फ्रूट जूस और पतंजलि एनर्जी बार के विज्ञापन को भ्रामक बताया है।

हनी काे लेकर डाबर-पतंजलि में ठनी

हाल ही में डाबर की शिकायत पर एडवरटाईजिंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया (एएससीआई) ने पतंजलि शहद के विज्ञापन में जरूरी बदलाव या फिर हटाने के लिए कहा है। एएससीआई ने कहा है कि पतंजलि शहद का जो विज्ञापन प्रसारित किया जा रहा है वह गुमराह करने वाला है। एएससीआई ने कहा कि पतंजलि आयुर्वेद ने अपने शहद में जो शुद्धता को लेकर दावा किया है वह निराधार है। एएससीआई ने ये कार्रवाई डाबर इंडिया की शिकायत पर किया है। इसके अलावा परिषद ने पतंजलि के खिलाफ छह मामलों को सही पाया था। पतंजलि आयुर्वेद दंत कांति, केशकांति जैसे अपने उत्पादों के विज्ञापनों के दावों को नियामक के समक्ष साबित नहीं कर सकी। नियामक ने इन विज्ञापनों को ‘भ्रामक’ माना है।

मुख्य समाचार

अमेरिका-चीन का व्यापार युद्ध भारत के लिए अवसर: पनगढ़िया

न्यूयॉर्कः अमेरिका और चीन के व्यापारिक रिश्तों में बढ़ता तनाव भारत के लिए एक 'अवसर' की तरह है। ऐसी में भारत उन बहुराष्ट्रीय कंपनियों को आगे पढ़ें »

कैश की किल्लत होगी खत्म, आरबीआई से मिल सकते हैं 3 लाख करोड़ रुपए

नई दिल्ली : बिमल जालान समिति की एक रिपोर्ट के मुताबिक भारतीय रिजर्व बैंक के पास पड़ी आवश्यकता से अधिक आरक्षित पूंजी से केंद्र सरकार आगे पढ़ें »

ट्रेन में 2 विधायकों से लूटपाट, चोरों ने नकदी सहित दस्तावेज उड़ाए

मुंबई : महाराष्ट्र के ठाणे के कल्याण स्टेशन पर सोमवार को अलग-अलग ट्रेनों में दो विधायकों से चोरों ने लूटपाट की। इस घटना की जानकारी आगे पढ़ें »

भारत पहुंचे पोम्पियो, पीएम मोदी और विदेश मंत्री जयशंकर से की मुलाकात

नई दिल्ली : भारत के दो दिनों के दौरे पर आए अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत विदेश आगे पढ़ें »

जल्द आएगा राष्ट्रीय खुदरा नीति पर मसौदा, व्यापार संघों से मांगे सुझाव 

नई दिल्ली : राष्ट्रीय खुदरा नीति का एक मसौदा अगले दस दिनों में जारी किया जा सकता है।  इस मसौदे पर व्यापार संघों से सुझाव आगे पढ़ें »

एसयूवी ने ली फुटपाथ पर सो रहे 3 बच्चों की जान, भीड़ की पिटाई से ड्राइवर की मौत

पटना : बिहार की राजधानी पटना में मंगलवार देर रात एक अनियंत्रित एसयूवी ने फुटपाथ पर सो रहे 4 बच्चों को रौंद डाला। शहर के आगे पढ़ें »

बजट : पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में ला सकती है सरकार

नई दिल्ली : बजट में मोदी सरकार पेट्रोल और डीजल समेत सभी पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में ला सकती है। एक रिपोर्ट के आगे पढ़ें »

जम्मू-कश्मीर के पहले दौरे पर शाह, डोगरा फ्रंट ने कहा- अलगावादियों से न हो बातचीत

श्रीनगर : गृहमंत्री का दायित्व संभालने के बाद अमित शाह बुधवार को अपने पहले दौरे पर  जम्मू-कश्मीर जा रहे हैं। वहीं उनकी यात्रा को देखते आगे पढ़ें »

अमेजन इंडिया कारोबार के तीसरे वर्ष कर रही है मेगा सेल का आयोजन

नई दिल्ली : ऑनलाइन शॉपिंग करने वालों के लिए ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन भारत में अपने कारोबार के तीसरे वर्ष में 15-16 जुलाई को प्राइम डे आगे पढ़ें »

कट मनी में दोषी पाए गए तो हो सकती है उम्रकैद

कोलकाता : कट मनी का मुद्दा दिनोंदिन गरमाता जा रहा है। विधानसभा से दिल्ली की संसद तक इसकी आंच पहुंच चुकी​ है। इधर इस मामले आगे पढ़ें »

ऊपर