नोटिस से बचना है तो कर लें ई-वेरिफिकेशन

नोटबंदी के बाद संदिग्ध लेन-देन वाले खातों का पहला सेट आयकर विभाग की वेबसाइट पर
सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाताः

विमुद्रीकरण की प्रक्रिया में यदि आपने अपने खाते में दो लाख रुपये से अधिक धन जमा किया है तो जांच लें कि आपके खाते में जमा किया गया धन आपकी आयकर विवरणी के अनुसार है या नहीं? यदि आपका जमा किया हुआ धन और आपके आयकर रिर्टन का विवरण मेल नहीं खा रहा तो आयकर विभाग इस संबंध में आपसे पूछताछ के लिए नोटिस भेज सकता है। ऐसे संदिग्ध खातों की सूची वाला पहला सेट आयकर विभाग ने अपनी वेबसाइट पर अपलोड किया है, जिसे लॉग-इन करके जांचा जा सकता है। उन 18 लाख खातों की पहचान कर ली गई है जिनमें  नोटबंदी के बाद 5 लाख रुपये से अधिक और 80 लाख रुपये तक जमा हुए हैं। अब आयकर विभाग ने ऐसे लोगों को नोटिस से बचने के लिए ई-वेरिफिकेशन करने को कहा है, जिनके द्वारा खाते में जमा किया गया धन उनके आयकर विवरण से मेल नहीं खा रहा।
ऐसे करें ई-वेरिफिकेशन
ई-फाइलिंग पोर्टल https://incometaxindiaefiling.gov.in पर लॉग-इन करें। रजिस्टर्ड नहीं होने पर रजिस्टर योरसेल्फ पर क्लिक कर रजिस्ट्रेशन करें। जब लॉग-इन करेंगे तो पैन नंबर से जुड़ी जानकारी देख पाएंगे। विस्तृत जानकारी के लिए कंप्लायंस सेक्शन में कैश ट्रांजेक्शन 2016 लिंक  पर क्लिक करने से संदिग्ध लेन-देन का विवरण सामने आएगा। जिन लोगों का नाम संदिग्ध सूची में दर्ज होगा तो उसका ई-वेरिफिकेशन करने के लिए तीसरे चरण में कुछ प्रश्न पूछे जाएंगे, जिनके जवाब देने होंगे। साथ ही अपने जवाबों का प्रिंट आउट लेकर रिकार्ड रख लें। जवाब संतोषजनक पाए जाते हैं तो मामला वहीं समाप्त हो  जाएगा, नहीं तो विभाग से संपर्क करना होगा। जो जवाब नहीं देंगे या जिनका  जवाब संतोषजनक नहीं होगा, विभाग उन पर प्रभावी नियमों के तहत अगला कदम  उठाएगा और नोटिस जारी करेगा।
‘सन्मार्ग’ ने सबसे पहले बता दिया था

‘सन्मार्ग’ ने 11 नवंबर को ‘खाते में जमा हो रहा एक-एक पैसा देख रहा है आईटी’ समाचार प्रकाशित कर बताया था कि एक-एक बैंक खाते पर आयकर विभाग की नजर है। साथ ही यह भी बताया गया था कि सभी बैंक खाते सीधे आयकर विभाग की वेबसाइट से जोड़ दिए गए हैं और जैसे ही तय सीमा 2 लाख रुपये से अधिक रकम किसी खाते में जमा होगी, वह तुरंत आयकर विभाग की नजर में आ जाएगा। इसी के आधार पर आयकर विभाग ने अब 18 लाख लोगों की पहचान कर ली है।

मुख्य समाचार

Fadnavis_cabinet_image

फडणवीस सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार: 13 नए मंत्री शामिल, कांग्रेस छोड़कर आए विखे पाटिल भी मंत्री बने

मुंबई: आगामी महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की स्थिति को मजबूत करने के लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने रविवार को आगे पढ़ें »

मुझे एस्मा लागू करने के लिए बाध्य न करेंःममता

कोलकाताः मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जूनियर डॉक्टरों को चेताते हुए कहा कि मुझे एस्मा लागू करने पर बाध्य न करें। ममता बनर्जी ने कहा कि आगे पढ़ें »

डोमकल में तृणमूल के 3 कार्यकर्ताओं की हत्या

मुर्शिदाबादः मुर्शिदाबाद के डोमकल में शनिवार की सुबह असामाजिक तत्वों के हमले में तृणमूल के 3 कार्यकर्ताओं की मौत हो गयी। इस हमले में 6 आगे पढ़ें »

सीएम की अपील को डॉक्टरों ने किया खारिज, हड़ताल रहेगी जारी

डीएमई के साथ हुई बैठक भी रही बेनतीजा कोलकाता: एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में हड़ताल कर रहे जूनियर डॉक्टरों ने राज्य सचिवालय में बैठक का आगे पढ़ें »

रूस, तुर्की, ईरान के सहयोग के सीरिया में अच्छे परिणाम: पुतिन

दुशाम्बे: रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने शनिवार को कहा कि अस्ताना मसौदे के दायरे में रूस, तुर्की और ईरान के सहयोग से सीरिया में आगे पढ़ें »

चीन ने हॉन्ग कॉन्ग प्रत्यर्पण विधेयक के निलंबन का समर्थन किया

शंघाई: चीन की सरकार ने शनिवार को कहा कि वह चीन को प्रत्यर्पण की अनुमति देने वाले विधेयक को निलंबित करने के हॉन्ग कॉन्ग की आगे पढ़ें »

सायना नेहवाल की बायोपिक के लिए ये अभिनेत्री सीख रही हैं बैडमिंटन खेलना

मुंबईः बॉलीवुड में इन दिनों बायोपिक का दौर है। अब बॉलीवुड अभिनेत्री परिणीति चोपड़ा भी एक बायोपिक में काम करती नजर आएंगी। बताया जा रहा आगे पढ़ें »

ममता ने डॉक्टरों की सभी मांगें मानी, कहा- कोई कार्रवाई भी नहीं होगी

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में पांच दिन से हड़ताल पर बैठे जूनियर डॉक्टरों की सभी मांगें स्वीकार कर ली गई है। शनिवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आगे पढ़ें »

सरकार का लक्ष्य 2024 तक देश की अर्थव्यवस्था को 350 लाख करोड़ रुपये तक ले जाना- मोदी

नई दिल्ली: दूसरी बार सरकार बनाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को नीति आयोग की 5वीं बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक में आगे पढ़ें »

प्रधानमंत्री ने की जल संरक्षण की अपील, देशभर की ग्राम पंचायतों को लिखा पत्र

नई दिल्लीः देशभर के जल संकट को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मॉनसून सीजन में अधिकाधिक जल संरक्षण पर बल दिया आगे पढ़ें »

ऊपर