निर्यात में आई 50 प्रतिशत तक की तेजी, विदेशों से आने लगे ऑर्डर

नई दिल्ली : कोरोना महामारी से देश के निर्यात क्षेत्र तेजी से बाहर आ रहा है। भारत को अमेरिका व यूरोप से ऑर्डर मिलना शुरू हो गया है। वहीं कोरोना महामारी के कारण रुके ऑर्डर डिलीवरी में भी अब 50 प्रतिशत तक की तेजी आ गई है। माना जा रहा है कि जून के बाद से हालात और सामान्य होंगे।

आपको बता दें कि इस साल कोरोना महामारी के कारण अप्रैल माह में वस्तुओं के निर्यात में 60 फीसद तक की भारी गिरावट दर्ज की गई थी। कोरोना के कारण पिछले मार्च और अप्रैल में दुनिया भर के देशों में लॉकडाउन के कारण उद्योग व्यापार काफी प्रभावित हुआ। यूरोप व अमेरिका में बाजार खुलने लगे हैं और ऑनलाइन ऑफलाइन बिक्री शुरू हो गई है। अब यूरोप व अमेरिका से ऑर्डर आने लगे हैं।

नोएडा के एक निर्यातक का कहना है कि सिर्फ नोएडा व ग्रेटर नोएडा से पिछले महीने 2000 करोड़ मूल्य के गारमेंट की निर्यात हुई। लगातार ऑर्डर आ रहे हैं। वहीं इंजीनियरिंग गुड्स के पुराने ऑर्डर की शिपमेंट में 50 फीसद की तेजी आई है और नए ऑर्डर भी आ रहे हैं। फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट आर्गेनाइजेशंस (फियो) का कहना है कि जून से निर्यात बढ़ेगा ।

मास्क की मांग
गारमेंट निर्यातकों के मुताबिक इन दिनों मास्क की खरीदारी के लिए यूरोप के देशों स्पेन, अमेरिका से काफी पूछताछ और मांग आ रही है औरअगले तीन महीने में लगभग 1 अरब डॉलर के मास्क निर्यात की संभावना है।

कामगारों की कमी बनी समस्या
निर्यातकों का कहना है कि श्रमिकों की कमी के कारण व्यवसाय प्रभावित हो रहा है और वे समय पर डिलीवरी देने में असमर्थ साबित हो रहे हैं। नए ऑर्डर मिले हैं, लेकिन उस ऑर्डर की समय पर डिलीवरी बड़ी समस्या है। सिर्फ 25-30 फीसद श्रमिक ही रह गए हैं। गारमेंट, लेदर, हैंडीक्राफ्ट्स, इंजीनियरिंग गुड्स, जेम्स व ज्वैलरी जैसे क्षेत्रों में श्रमिकों की भारी कमी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वनडे क्रिकेट में किसी भी स्थान पर बल्लेबाजी को तैयार : रहाणे

नयी दिल्ली : भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे ने कहा कि उनकी अंतररात्मा की आवाज है कि वह एकदिवसीय प्रारूप में राष्ट्रीय टीम में वापसी करेंगे। आगे पढ़ें »

जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की मदद करती रहेगी सरकार : रीजिजू

नयी दिल्ली : खेलमंत्री किरेन रीजिजू ने शनिवार को कहा कि मंत्रालय जरूरतमंद पूर्व खिलाड़ियों की आर्थिक मदद करता रहेगा क्योंकि देश के लिये खेलते आगे पढ़ें »

ऊपर