नववर्ष में राहत देंगे ये बड़े बदलाव

नई दिल्लीः नववर्ष आम आदमी के लिए कई राहत लेकर आया है। इनमें सबसे प्रमुख जहां पंजाब नेशनल बैंक द्वारा बचत खातों पर अधिक ब्याज देने की घोषणा है, वहीं कार्ड से भुगतान पर लगने वाले चार्ज से मुक्ति, फोन के माध्यम से आधार को फोन नंबर से जोड़ना, ई-वे बिल की घोषणा आदि भी शामिल हैं। आइए नजर डालते हैं सोमवार से हो रहे परिवर्तनों पर –

1. पीएनबी देगा अधिक ब्याज
सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक ने 1 जनवरी से 10 करोड़ रुपये तक की जमा पर ब्याज दरों में 1.25 प्रतिशत तक वृद्धि करने की घोषणा की। एक करोड़ रुपये तक की राशि के लिए 7 से 29 दिन के डिपॉजिट पर ब्याज दर को 4 प्रतिशत से बढ़ाकर 5.25 प्रतिशत कर दिया गया है। 30 से 45 दिन के जमा पर 4.50 की बजाय 5.25 प्रतिशत, 46 से 90 दिन के जमा पर 5.50 की बजाय 6.25 प्रतिशत और 91 से 179 दिन के जमा पर ब्याज दर 6 प्रतिशत से बढ़ाकर 6.25 प्रतिशत कर दी गई है। बैंक 1 से 10 करोड़ रुपये तक की ज्यादा राशि की 7 से 45 दिन के लिए 4 की जगह 4.8 प्रतिशत, 46 से 179 दिन के लिए 4 की जगह 4.9 प्रतिशत, 180 से 344 दिन के लिए 4.25 की जगह 5 प्रतिशत, एक साल की अवधि के लिए 5 से बढ़ाकर 5.7%, एक से तीन साल के लिए 5 से बढ़ाकर 5.5% और 3 से 10 साल की अवधि के लिए ब्याज दर 5 से बढ़ाकर 5.25% कर दी है।
2. घर बैठे जोड़ें आधार


सरकार के अनुसार बैंक खाते, फोन नंबर और पैन से आधार को जोड़ना अनिवार्य है, जिसकी अंतिम तिथि 31 मार्च है। राहत की बात यह है कि जनवरी में फोन नंबर को आधार से जोड़ने की प्रक्रिया फोन से ही पूरी की जा सकेगी। संबंधित कंपनियां ही यह सुविधा उपलब्ध कराएंगी। पहले यह दिसंबर से लागू होना था, लेकिन तैयारी पूरी न होने के कारण तब नहीं हो पाया।
3. एमडीआर चार्ज से मुक्ति


डेबिड कार्ड से भुगतान करने पर अब 2000 रुपये तक के लेन-देन पर सरकार ने सब्सिडी दे दी है। एक जनवरी से डेबिट कार्ड, यूपीआई और भीम एप से इस सीमा तक भुगतान करने पर कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं लगेगा। अब तक यह चार्ज कहीं उपभोक्ता तो कहीं विक्रेता को देना पड़ रहा था, जो 1 प्रतिशत तक था।
4. महंगी नहीं होगी गैस


सरकार अब तक हर महीने रसोई गैस के दाम बढ़ा रही थी, ताकि उस पर सब्सिडी को मार्च 2018 तक पूरी तरह खत्म किया जा सके। लेकिन जनवरी से इसके दामों में वृद्धि नहीं होगी।
5. इनकी मार भी पड़ेगी
1 जनवरी से कई लघु बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में 0.2 प्रतिशत तक की कमी हो जाएगी, जिसमें पीपीएफ से लेकर सुकन्या समृद्धि योजना तक शामिल हैं। इसमें किसान विकास पत्र आदि भी शामिल हैं। वरिष्ठ नागरिकों को इससे छूट रहेगी। साथ ही तमाम वाहन निर्माता कंपनियों ने अपने वाहन 1 जनवरी से महंगे करने की घोषणा पहले ही कर दी है। साथ ही, एसबीआई में जिन बैंकों का विलय हुआ है, उनकी चेकबुक 1 जनवरी से अमान्य हो जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मय बंद्योपाध्याय ने जेल से रिहा होते ही बताया जान को खतरा

कहा राज्य में चल रहा जंगल राज संवाददाताओं से बातचीत के दौरान फूट-फूटकर रोने लगे सन्मार्ग संवाददाता पुरुलिया : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किये जाने के कथित आगे पढ़ें »

दीपावली पर ड्रोन से नजर रखेगा पीसीबी ऊंची इमारतों पर

प्रतिबंधित पटाखे जलाने पर आवासन के अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई वसूला जाएगा 5 हजार से लाख रुपए तक का जुर्माना दोषी पाए जाने पर होगी 5 साल आगे पढ़ें »

ऊपर