देश में 5 वर्षों में 80,000 मेगावाट अक्षय ऊर्जा क्षमता सृजित होने की उम्मीद

नयी दिल्ली: हाल ही में हुए एक सर्वे के अनुसार देश की अक्षय ऊर्जा सृजित क्षमता अगले 5 वर्षों में 80 हजार मेगावाट हो सकती है। इस सर्वे में विभिन्न देशों की 41 कंपनियों ने हिस्सा लिया। परामर्श कंपनी ब्रिज टू इंडिया के मुताबिक कुल 80 हजार मेगावाट में से 47 हजार मेगावाट सौर ऊर्जा परियोजनाओं, 2 हजार मेगावाट पवन ऊर्जा, 8 हजार छतों पर लगने वाली सौर क्षमता तथा 3 हजार मेगावाट जल क्षेत्र में लगने वाली सौर परियोजनाओं से सृजित होंगी। बता दें कि, सरकार का वर्ष 2022 तक नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन क्षमता बढ़ाकर 1 लाख 75 हजार मेगावाट करने का लक्ष्य है।

73 प्रतिशत प्रतिभागी आशान्वित

करीब 73 प्रतिशत प्रतिभागी भारतीय अक्षय ऊर्जा की वृद्धि संभावना को लेकर आशान्वित हैं। लगभग 78 प्रतिशत कंपनियों का कहना है कि सरकार ने अक्षय ऊर्जा उत्पादन क्षमता का लक्ष्य 1 लाख 75 हजार मेगावाट करके उद्योग की वृद्धि को गति दी है। इसमें से 1 लाख मेगावाट सौर ऊर्जा तथा 60 हजार मेगावाट पवन ऊर्जा और शेष अन्य से आने का लक्ष्य है।

अधिकतर प्रतिभागियों का मानना है कि उठाव जोखिम, भूमि अधिग्रहण तथा अनिश्चित नीति माहौल क्षेत्र के लिये सबसे बड़ी चुनौतियां हैं। लगभग 90 प्रतिशत प्रतिभागियों की यह सोच है कि क्षेत्र में बोली माहौल आक्रमक है। उद्योग देश में विनिर्माण संभावनाओं को लेकर भी निराश है। सर्वे के अनुसार, इस चीज को समझा जा सकता है कि सरकार की घरेलू विनिर्माण को प्रोत्साहन देने के कदम विनिर्माण आधारित निविदा, कुसुम तथा रक्षोपाय शुल्क कोई सकारात्मक नतीजा लाने में असफल रहे हैं।

ब्रिज टू इंडिया के प्रबंध निदेशक विनय रस्तोगी ने कहा, ‘कुल मिलाकर सर्वे अक्षय ऊर्जा क्षेत्र की वृद्धि को लेकर आशावादी तस्वीर पेश करता है। अगर बिजली वितरण कंपनियों में सुधार के लिये प्रभावी उपाय किये जाते हैं तथा नेटवर्क कनेक्टिविटी बेहतर किया जाता है तो हम आने वाले वर्ष में उच्च क्षमता सृजित कर सकते हैं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 547 नये मामले आए सामने, कुल 6412 हुए संक्रमित

नयी दिल्ली : देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण से लोगों के बचाव के लिए लागू 21 दिन के लॉकडाउन के बीच देश में पिछले 24 आगे पढ़ें »

बंगाल में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 12 नये मामले आए सामने

सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाता : बंगाल में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटों में कोरोना के 12 नये मामले सामने आये आगे पढ़ें »

ऊपर