देश की सेवा क्षेत्र की गतिविधियों की गति धीमी, भर्तियों पर रोक

नयी दिल्ली: भारत की सेवा क्षेत्र की गतिविधियां दिसम्बर में धीमी गति से बढ़ीं। इस दौरान बिक्री में वृद्धि तीन महीने के निचले स्तर पर आ गयी और कर्मचारियों की भर्तियां थम गयीं। रोजगार के मोर्चे पर नकदी संकट, श्रमिकों की कमी और मांग में संकुचन के चलते भर्तियों पर रोक लगा दी गयी हैं। भारत का सेवा व्यवसाय गतिविधि सूचकांक नवम्बर के 53.7 अंक से गिरकर दिसम्बर में 52.3 अंक हो गया। सूचकांक दिसम्बर में लगातार तीसरे महीने 50 से ऊपर रहा, जो कारोबार में बढ़ोतरी को दर्शाता है, हालांकि इसकी रफ्तार काफी धीमी है। आईएचएस मार्किट के आर्थिक सहायक निदेशक पॉलियाना डी लीमा के अनुसार यह अच्छी खबर है कि दिसंबर में सेवा क्षेत्र का विस्तार हुआ लेकिन वृद्धि ने एक बार फिर अपनी गति खो दी है। कंपनियों ने संकेत दिया कि नये कामों से वृद्धि को समर्थन मिला, हालांकि प्रतिस्पर्धी दबावों और कोविड-19 महामारी ने इस पर अंकुश लगाया। सेवा प्रदाताओं के मुताबिक कोरोना के मामलों में तेजी के चलते कारोबार प्रभावित हुआ और व्यापार अनिश्चितता बढ़ गयी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

किसान कानूनों के खिलाफ पश्चिम बंगाल विधानसभा में प्रस्‍ताव पास

भाजपा विधायकों ने किया वॉकआउट  कोलकाता : किसान बिलों को लेकर दिल्‍ली से पश्चिम बंगाल तक हंगामा मचा हुआ है। एक तरफ जहां देश भर के आगे पढ़ें »

‘पंजाब केसरी’ लाला लाजपत राय को सीएम सोरेन ने किया नमन

रांची : स्वतंत्रता संग्राम सेनानी लाला लाजपत राय की 28 जनवरी गुरुवार को देश भर में जयंती मनाई जा रही है। इस अवसर पर झारखंड आगे पढ़ें »

ऊपर