देशभर के 1.5 लाख डाकघरों को आधुनिक बनाएगी यह कंपनी

Fallback Image

नई दिल्ली : भारतीय डाक अब आधुनिक होंगे। इसे आधुनिक रूप देने के लिए आगे आई है आईटी सेवा प्रदाता कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस)। इसके तहत देश के 1.5 लाख डाकघरों को आधुनिक रूप दिया जाएगा। कंपनी को 2013 में डाक विभाग से सूचना प्रौद्योगिकी आधुनिकीकरण कार्यक्रम के लिए 1,100 करोड़ रुपये का ठेका मिला था। इसका मकसद भारतीय डाक को आधुनिक प्रौद्योगिकी तथा प्रणाली से लैस करना था ताकि डाकघर ग्राहकों को और सेवाओं की पेशकश प्रभावी तरीके से कर सके।

टीसीएस के अधिकारी ने बताया कि इस पूरे बदलाव के केंद्र में केंद्रीय प्रणाली का एकीकरण (सीएसआई) है, इसमें एकीकृत ईआरपी (एंटरप्राइज रिसोर्स प्लानिंग) का उपयोग करना शामिल था। यह डाक सेवाओं, वित्त, लेखा तथा मानव संसाधन कार्यों को बेहतर बनाता है। साथ ही यह 1.5 लाख से अधिक डाकघरों के नेटवर्क को जोड़ता है। इसके अलावा टीसीएस ने 24,000 डाकघरों में 80,000 ‘प्वाइंट ऑफ सेल’ (पीओएस) टर्मिनल के जरिये पीओएस समाधान शुरू किया है।

इसके अलावा कंपनी ने वेब पोर्टल बनाया है, जो भेजे गए सामान की ट्रैकिंग करने में सक्षम है। साथ ही ग्राहकों की सहायता के लिए कॉल सेंटर शुरू किया गया है जो विभिन्न भाषाओं में काम करेगा। इस पहल का मकसद वित्तीय समावेश और दूर-दराज के इलाकों में नागरिक सेवाओं की पहुंच के लिये विभाग के देशव्यापी पहुंच का उपयोग करना है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अनलॉक शुरू : पटरी पर लौटने लगा देश

कोलकाता में बसें नहीं मिली तो पैदल ही चल दिये लोग सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता/नयी ​दिल्ली : कोरोना संक्रमण के कारण लगे लॉकडाउन के 67 दिनों बाद आगे पढ़ें »

सार्वजनिक कंपनियों को अब घरेलू कंपनियों से करनी होगी खरीदारी, सरकार ने दिया निर्देश

नई दिल्ली : आत्मनिर्भर भारत के तहत देश की सार्वजनिक कंपनियां अब खरीदारी देशी कंपनियों से ही करेंगी। इसके लिए सभी सभी पीएसयू जल्द ही आगे पढ़ें »

ऊपर