तेल कंपनियों ने एयर इंडिया को ईंधन की आपूर्ति शुरू की

Air India's privatization, government stops all promotions and appointments

नई दिल्ली : सार्वजनिक क्षेत्र की तेल मार्केटिंग कंपनियों ने धन की कमी से जूझ रही एयर इंडिया को ईंधन का काफी पैसा बकाया होने पर तेल की आपूर्ति बंद कर दी थी, लेकिन छह हवाई अड्डों पर विमान ईंधन (एटीएफ) की आपूर्ति शनिवार को फिर से शुरू कर दी गई है।
आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि इस सप्ताह की शुरुआत में सरकार ने तेल कंपनियों और एयर इंडिया के बीच बातचीत में मध्यस्थता की थी, जिसके बाद ईंधन आपूर्ति शुरू करने का फैसला किया है।

एयरलाइन कंपनी ने बकाए बिल का भुगतान करने के लिए हर महीने 100 करोड़ रुपये देने का वादा दिया है। एयर इंडिया पर विमान ईंधन का 4,300 करोड़ रुपये बकाया है।  एक तेल मार्केटिंग कंपनी के प्रवक्ता जानकरी दी है कि एयर इंडिया को विमान ईंधन की आपूर्ति शनिवार शाम से की जा रही है। पिछले महीने इंडियन ऑयल के साथ भारत पेट्रोलियम और हिन्दुस्तान पेट्रोलियम ने पुणे, विशाखापत्तनम, कोच्चि, पटना, रांची और मोहाली में एअर इंडिया को विमान ईंधन उपलब्ध कराने पर रोक लगा दी थी।  एयरलाइन के बकाए का भुगतान करने के लिए तेल कंपनियों को हर महीने 100 करोड़ रुपये देने पर सहमती बनी है, यह राशि तेल कंपनियों को किए जा रहे दैनिक बिल के भुगतान से अलग होगी।

एयर इंडिया अप्रैल से नकद भुगतान को अपनाए हुए है और प्रतिदिन ईंधन के एवज में 18 करोड़ रुपये के बिल का भुगतान कर रही है। तेल कंपनियों ने जल्द से जल्द भुगतान की मांग की है।  इंडियन ऑयल ने एयर इंडिया को बिना किसी जमानत के 90 दिन में बिल भुगतान की सुविधा दी है, अब बकाया बढ़ गया है और लंबित भुगतान अवधि बढ़कर 240 दिन पर पहुंच चुकी है। एयर इंडिया के अधिकारी ने कहा कि तेल मार्केटिंग कंपनियां चाहती थी कि एयर इंडिया जल्द से जल्द पूरे बकाए का भुगतान करे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

करीमपुर उपचुनाव से होगा बंगाल विधानसभा के विजय का आगाज : विजयवर्गीय

नदियाः नदिया के करीमपुर विधानसभा उपचुनाव से बंगाल विधानसभा पर विजय का आगाज होगा, शनिवार शाम करीमपुर के महिषबथान में गांधी संकल्प यात्रा को केंद्र आगे पढ़ें »

बीजीबी की फायरिंग में बीएसएफ जवान की मौत की घटना दुर्भाग्यजनक : शुभेन्दु अधिकारी

मुर्शिदाबाद : मुर्शिदाबाद के जलंगी में बीजीबी की फायरिंग में बीएसएफ जवान की मौत की घटना दुर्भाग्यजनक। परिवहन मंत्री और तृणमूल के जिला पर्यवेक्षक शुभेन्दु आगे पढ़ें »

ऊपर