टिकटॉक से प्रतिबंध हटा, पहले से होगा और सुरक्षित

नई दिल्ली : मद्रास हाई कोर्ट द्वारा प्रतिबंध हटाए जाने के बाद चीन के वीडियो साझा करने वाले ऐप टिकटॉक ने कहा है कि वह अपने 12 करोड़ भारतीय उपयोगकर्ताओं के सुरक्षा फीचर को और मजबूत करेगा। मद्रास हाई कोर्ट की मदुरै पीठ ने ऐप पर लगाए गए प्रतिबंध को हटाते हुए कहा कि मंच पर बच्चों और महिलाओं से जुड़े अश्लील वीडियो नहीं होने चाहिए।

मद्रास हाई कोर्ट के आदेश का स्वागत करते हुए टिकटॉक ने कहा कि हम इस फैसले से खुश हैं और हमारे भारतीय उपयोगकर्ता भी इसका स्वागत करेंगे, जो टिकटॉक का इस्तेमाल अपनी रचनात्मकता दिखाने के लिए करते हैं। ऐप के दुरुपयोग के खिलाफ कंपनी के प्रयासों को मान्यता मिली है। एपल और गूगल को यह जानने के लिए ईमेल किया गया है कि उन्हें टिकटॉक एप को अपने ऐप स्टोर पर उपलब्ध कराने में कितना समय लगेगा, लेकिन उनकी तरफ से अब तक कोई सूचना नहीं मिली है।

टिकटॉक की मूल कंपनी बाइटडांस ने कहा है कि वह भारतीय बाजार को लेकर ‘बहुत आशावान’ है, क्योंकि अगले तीन साल में उसकी योजना देश में एक अरब डॉलर के निवेश की है। इससे पहले मद्रास उच्च न्यायालय ने इस ऐप के जरिए अश्लील एवं अनुचित सामग्री परोसे जाने का हवाला देते हुए केंद्र सरकार को ‘टिक-टॉक’ ऐप पर प्रतिबंध लगाने का निर्देश दिया था। टिक-टॉक ऐप पर अश्लील सामग्री को बढ़ावा देने और समाज में हिंसा फैलाने वाले विडियो पोस्ट किए जाने का आरोप लगाते हुए मद्रास हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई थी।

बाद में टिकटॉक ने इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की। सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करते हुए मद्रास हाईकोर्ट को 24 अप्रैल तक कोई फैसला लेने के निर्देश दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Vinash

‘विनाश’ करेगा डेंगू के लार्वा को खत्म

कोलकाता : अब महानगर की ऊंची इमारत, खाली जमीन, कारखाना, बंद घर के अंदर भी अगर डेंगू के लार्वा पनप रहे होंगे तो उनको खत्म आगे पढ़ें »

us

चीन की बेल्ट रोड परियोजना पर भारत की चिंताओं को साझा करता है अमेरिका : एलिस वेल्स

वाशिंगटन : अमेरिका ने चीन की महात्वाकांक्षी ‘वन बेल्ट वन रोड’ (ओबीओआर) परियोजना पर भारत के विरोध का समर्थन किया और कहा कि वह इस आगे पढ़ें »

ऊपर