ज्यादा रिटर्न के लिए यहां कर सकते हैं निवेश

नई दिल्ली : अगर आप भी निवेश कर के ज्यादा ब्याज चाहते हैं तो आपको मार्केट के बारे में जानकारी रखने और अवेयर रहने की जरूरत है। ज्यादातर बैंक एफडी पर कम ब्याज दे रहे हैं, बड़े बैंकों ने भी अपने डिपॉजिट रेट को 55 से 100 आधार अंकों तक कम किया है। एसबीआई 6.10 फीसद, एचडीएफसी व कोटक बैंक 6.3 फीसद और आईसीआईसीआई बैंक 6.2 फीसद ब्याज दे रहा है। सरकारी बॉन्ड की बात करें तो सात साल के सरकारी बॉन्ड का रिटर्न भी 7.75 फीसद है, जबकि कुछ निवेश 9 फीसद से ज्यादा ब्याज दे रहे हैं।

प्याज बनी सरकार के लिए परेशानी का सबब, नहीं बिक रहे इम्पोर्टेड प्याज

निवेशक के पास अधिक रिटर्न के लिए श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस डिबेंचर इश्यू भी है और एनबीएफसी कंपनी ने छह जनवरी को अपना नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर खोला है, जिसके इश्यू बेस का साइज 200 करोड़ है। सब्सक्रिप्शन अधिक होने पर कंपनी इसे 1,000 करोड़ तक बढ़ा सकती है और यह एनसीडी समयावधि और ब्याज भुगतान की आवृत्ति के आधार भिन्न-भिन्न ब्याज दरों की पेशकश कर रहा है। इसमें सात साल की अवधि के लिए सालाना ब्याज दर सबसे अधिक 9.1 फीसद है और एनसीडी में एक डिबेंचर का मूल्य 1,000 रुपये है। यह इश्यू 22 जनवरी तक खुला है।

यह मिलेगा रिटर्न
एनसीडी में ग्राहक को 8.5 फीसद से लेकर 9.1 फीसद तक सालाना ब्याज मिल रहा है और यह एनसीडी 3,5 और 7 साल की समयावधि के लिए उपलब्ध है। मासिक ब्याज यहां 3,5 व 7 साल के लिए क्रमश: 8.52, 8.66 और 8.75 फीसद होगी। वार्षिक ब्याज के लिए ग्राहक को 3,5 व 7 साल की समयावधि के लिए क्रमश: 8.85, 9 और 9.1 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। यहां वर्षिक ब्याज दर ज्यादा है, क्योंकि इसमें ब्याज भुगतान की आवृत्ति कम होती है। सीनियर सिटीजंस के लिए यहां 0.25 फीसद की अतिरिक्त ब्याज दर मिलती है।

सड़क यातायात को सुरक्षित बनाने के लिए नवीनतम प्रौद्योगिकी का उपयोग करेगी सरकार

सुरक्षित है यह डिबेंचर
इसमें निवेश सुरक्षित है। रेटिंग एजेंसी क्रिसिल, केयर और इंडिया रेटिंग्स ने इन डिबेंचरों को एए+ रेटिंग दी है। यह रेटिंग सर्वाधिक रेटिंग एएए से सिर्फ एक पायदान नीचे है। एए+ रेटिंग वाले इंस्ट्रुमेंट्स में निवेश सुरक्षित समझा जाता है, क्योंकि ऐसे निवेश में रिस्क कम होता है।

इस तरह करें निवेश
बैंक या ब्रोकर्स के माध्यम से आवेदन जमा कर एनसीडी के पब्लिक इश्यू में निवेश कर सकते हैं। इन डिबेंचरों के एनएई और बीएसई पर लिस्ट होने के बाद ग्राहक को यह सुविधा मिलेगी कि अगर वह मैच्योरिटी तक इन डिबेंचरों में निवेश नहीं रखना चाहता है, तो इन्हें स्टॉक एक्सचेंज में बेच सकते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वियतनाम में 50 दिन बाद फुटबॉल की वापसी, 30 हजार दर्शक रहे मौजूद

नाम डिन : कोरोनावायरस की वजह से दुनिया भर में बिना प्रशंसकों के फुटबॉल टूर्नामेंट शुरू हो रहे हैं। वहीं, वियतनाम में 50 दिन बाद आगे पढ़ें »

यूएस ओपन से जुड़े स्वास्थ्य प्रतिबंध ज्यादा सख्त : जोकोविच

लंदन : वर्ल्ड नंबर-1 टेनिस खिलाड़ी सर्बिया को नोवाक जोकोविच ने यूएस ओपन से जुड़े स्वास्थ्य प्रतिबंधों को जरूरत से ज्यादा सख्त बताया है। उन्होंने आगे पढ़ें »

8 जुलाई से इंग्लैंड-वेस्टइंडीज टेस्ट, पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और आयरलैंड से भी सीरीज की तैयारी

बंगाल में आयी कोरोना वायरस संक्रमण की बाढ़

बॉयकॉट ने बीबीसी की स्पेशल टेस्ट कॉमेंट्री टीम छोड़ी

एशिया कप में खेलना सपने सच होने जैसा : कप्तान आशा लता

बड़ी कामयाबी : होम्योपैथी दवा के हमले से ढेर हुआ कोराेना, 42 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थ

इंसानियत हुई तार-तार : गर्भवती हथिनी के बाद अब गर्भवती गाय को खिलाया विस्फोटक, देशभर में आक्रोश

मिथिला की बेटी मधु माधवी का प्रतिष्ठित जेम्स वॉट मेडल के लिए हुआ चयन

पाक ने की नापाक हरकत, जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास चौकियों पर की अकारण गोलीबारी

ऊपर