जेट संकट : बैंक 20 फीसदी हिस्सेदारी अपने पास रखने को राजी

नई दिल्ली : बंद होने के कगार पर खड़ी निजी विमानन कंपनी जेट एयरवेज में बैंक 20 फीसदी हिस्सेदारी अपने पास रखने को राजी हो सकते हैं, क्योंकि हिंदुजा समूह विमानन कंपनी में 30 फीसदी से अधिक हिस्सेदारी नहीं लेना चाहती है। ऋणदाताओं के साथ हुई बातचीत के बाद बैंक दो साल तक यह हिस्सेदारी अपने पास रख सकते हैं, जिसे बाद में बेच सकते हैं। हिंदुजा समूह इस सौदे को लेकर खासा सतर्क है और जेट में 30 फीसदी से अधिक हिस्सेदारी लेने को अनिच्छुक है। इंडस्ट्री के जानकारों का कहना है कि हिंदुजा अधिक निवेश के लिए तैयार नहीं है।

जेट एयरवेज के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल की करीब 26 फीसदी हिस्सेदारी पहले से ही पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) के पास गिरवी है। जेट में एसबीआई के बाद सबसे अधिक पैसा पीएनबी का ही फंसा है। हिंदुजा समूह की अबू धाबी में एतिहाद के अधिकारियों से भी इस सौदे पर बातचीत चल रही है। जेट को संकट से उबारने के लिए योजना मैकिंजी ने तैयार की है, जिसके तहत जेट को तीन साल से भी कम समय में पटरी पर लाया जा सकता है। हालाँकि हिंदुजा का जेट में दिलचस्पी दिखाना इस विमानन कंपनी के लिए सकारात्मक संकेत है, लेकिन बैंकों के अधिकारियों ने आगाह किया कि अभी यह तय नहीं है कि यह सौदा आगे बढ़ेगा या नहीं। वहीँ इंडस्ट्री के जानकारों का कहना है कि जेट की लागत दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। संचालन बंद होने के बावजूद कंपनी का हर महीने का खर्च कम से कम 120 से 130 करोड़ रुपये है।

जेट पर करीब 15,000 करोड़ रुपये का बकाया है, जिसमें बैंकों का 8,500 करोड़ रुपये का कर्ज शामिल है। बैंकों ने कंपनी में 76 फीसदी तक हिस्सेदारी खरीदने के लिए बोलियां मंगाई हैं, जिसमें एतिहाद एयरवेज ने बोली सौंपी।

एसबीआई कैप्स ने विभिन्न भारतीय कंपनी समूहों और एनआईआईएफ से संपर्क साधा है। साथ ही उसने बिना आमंत्रण बोली लगाने वाली कंपनियों से भी बातचीत शुरू की है। इनमें लंदन की आदि पार्टनर्स और डार्विन प्लेटफॉर्म ग्रुप शामिल है। हालाँकि माना जा रहा है कि बैंक और एतिहाद इससे सहज नहीं हैं, क्योंकि इन कंपनियों को बड़ा कारोबार चलाने का अनुभव नहीं है। सूत्रों के मुताबिक जेट एयरवेज को दोबारा कामकाज शुरू करने के लिए 5,950 करोड़ रुपये की जरूरत है। एतिहाद ने अपने प्रस्ताव में कहा है कि वह केवल 1,700 करोड़ रुपये की निवेश कर पाएगी और 24 फीसदी हिस्सा खरीदेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

sjayshanker

‘नेपाल-भारत संयुक्त आयोग’ की 5वीं बैठक में शामिल होने नेपाल जाएंगे विदेश मंत्री

काठमांडू : विदेश मंत्री एस जयशंकर ‘नेपाल-भारत संयुक्त आयोग’ की 5वीं बैठक में शामिल होने इस सप्ताह नेपाल जाएंगे। इस बैठक में जयशंकर द्विपक्षीय संबंधों आगे पढ़ें »

dhule

महाराष्ट्र : बस और ट्रक के बीच भीषण टक्कर में 15 की मौत ,कई घायल

धुले : महाराष्ट्र के धुले में एक दर्दनाक हादसा होने का मामला सामने आया है। यहां एक बस और ट्रक के बीच हुए भीषण टक्कर आगे पढ़ें »

ऊपर