जेट को लेकर खरीदारों में उदासीनता बढ़ी

नई दिल्ली : जेट एयरवेज के लिए बुरी खबर है। जेट के लिए बोली लगाने वाली कंपनियों की भी जेट एयरवेज में दिलचस्पी घट रही है। रिपोर्ट के मुताबिक जेट एयरवेज में हिस्सेदार और बोली लगाने वाली एकलौती एविएशन कंपनी एतिहाद भी पीछे हट सकती है।

एतिहाद एयरलाइन्स ज्यादा पूंजी डालने को तैयार नहीं है और वर्किंग लोन के लिए भी वह बैंकों पर ही निर्भर है। बोली लगाने वाली दूसरी कंपनियां भी जेट एयरवेज की उड़ानें जारी रहने तक तो काफी उत्साहित थीं, लेकिन कामकाज ठप होने के बाद पार्किंग लॉट और उड़ानों के स्लॉट अन्य एयरलाइंस को दिए जाने से वे बहुत खुश नहीं हैं। हालांकि, सरकार दूसरी एयरलाइंस को स्लॉट अधिकतम तीन महीने के लिए देने जा रही है, जिसके बाद निवेशकों के मन में सवाल है कि जेट में इनवेस्ट करने वालों के हाथ क्या लगेगा। इन सवालों का सही जवाब नहीं मिलने के कारण निवेशक जेट एयरवेज में दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं।

कॉरपोरेट अफेयर्स मंत्रालय की ओर से भी जेट एयरलाइंस के खिलाफ एक पुराने मामले में जांच जारी है। ऐसे कई पहलू हैं, जिसे देखकर निवेशक हिचक रहे हैं। इस बीच जेट के कर्मचारियों ने भी संकेत दे दिए हैं कि अगर मामले का कोई हल नहीं निकला तो वे अपना बकाया वसूलने के लिए एयरलाइन को एनसीएलटी में में घसीट सकते हैं।

जेट एयरवेज में 75 फीसदी तक हिस्सेदारी खरीदने के लिए कंपनियों से बोलियां मंगवाई जा रही हैं। बोली लगाने वालों को 10 मई तक बोली सौंपनी है। अब तक एनआईआईए, एतिहाद, इंडिगो पार्टनर्स और टीपीजी ने बोलियों में दिलचस्पी दिखाई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेकाबू होता जा रहा है डेंगू, और 2 की मौत

अब तक 19 मरे, साढ़े 11 हजार लोग पीड़ित सन्मार्ग संवादाता कोलकाता : डेंगू का कहर दिन ब दिन बेकाबू होता जा रहा है। रविवार को डेंगू आगे पढ़ें »

mamata banerjee

आज केन्द्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मियों को सम्बोधित करेंगी ममता

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज सोमवार को नेताजी इंडोर स्टेडियम में केंद्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मचारियों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित करेंगी। इन आगे पढ़ें »

ऊपर