जेट के कर्मचारियों को नौकरी देने के लिए ये दो कंपनियां आईं आगे

नई दिल्ली : जेट एयरवेज के कर्मचारियों को काम देने के लिए अमेरिकी कंपनी वीवर्क आगे आई है, जिनकी नौकरी एयरलाइन की सेवाओं के निलंबित होने से प्रभावित हुई है। आपको बता दें कि जेट 8,500 करोड़ रुपये से अधिक के कर्ज में डूबी हुई है। कर्ज में डूबी जेट पिछले कई महीनों से पायलटों और कर्मचारियों को वेतन भुगतान नहीं कर पा रही है।

वीवर्क ने कहा कि वह विपणन, सामुदायिक प्रबंधन और बिक्री जैसे विभागों में रिक्तियों के लिए जेट एयरवेज के कर्मचारियों के आवेदनों पर गंभीरता से विचार करेगी। वीवर्क ने जेट के कर्मचारियों के लिए एक अलग से ईमेल आईडी बनाई है और इच्छुक उम्मीदवार अपना बॉयोडेटा इस आईडी पर भेज सकते हैं। कोई वैकेंसी हुआ तो सबसे पहले जेट के कर्मचारियों के आवेदनों पर सबसे पहले विचार किया जाएगा।

वहीँ एक दूसरी कंपनी लोज इंडिया ने भी जेट एयरवेज के आईटी विभाग के कर्मचारियों को नियुक्त करने की पेशकश की है। स्पाइसेजट के चेयरमैन अजय सिंह जेट एयरवेज के 1,000 कर्मचारियों को नौकरी देने की घोषणा की है। इसके अलावा क्यूरफिट जैसी स्टार्टअप कंपनियों ने भी जेट के कर्मियों को नौकरी की पेशकश की है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में कोरोना के 1390 आये नये मामले

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 1390 नये मामले सामने आये आगे पढ़ें »

भारत में अल्पपोषित लोगों की संख्या छह करोड़ घटकर 14 प्रतिशत पर पहुंची : संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र : भारत में पिछले एक दशक में अल्पपोषित लोगों की संख्या छह करोड़ तक घट गई है। संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में आगे पढ़ें »

ऊपर