जेट एयरवेज के 1100 पायलट सोमवार को नहीं भरेंगे उड़ान

मुंबई: वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज के पायलटों के राष्ट्रीय संगठन नैशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) से जुड़े करीब 1,100 पायलटों ने ‘वेतन भुगतान नहीं होने की वजह से’ सोमवार सुबह 10 बजे से विमान नहीं उड़ाने का फैसला किया है। पायलट के साथ-साथ इंजिनियर और वरिष्ठ प्रबंधकों को जनवरी से वेतन नहीं मिला है। गिल्ड के एक सूत्र ने बताया, ‘‘ अब तक हमें पिछले साढ़े तीन महीने का वेतन नहीं मिला है और हमें नहीं पता कि हमारा वेतन कब मिलेगा। इसलिए हमने 15 अप्रैल से जहाज नहीं उड़ाने के अपने फैसले के साथ आगे बढ़ने का निर्णय लिया है। बताते चलें कि शनिवार को जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के टर्मिनल 3 के बाहर प्रदर्शन किया था। इसके साथ ही कर्मियों ने बकाया वेतन दिए जाने की मांग भी की थी। कर्मचारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मामले में हस्तक्षेप की अपील की, जिससे मामले का हल निकल सके।

जेट ने की बुकिंग रोकने की पुष्टि

सूत्रों से यह भी सूचना है कि एयरलाइन ने मुंबई-पेरिस विमान के लिए 10 जून तक बुकिंग लेना भी बंद कर दिया है। उसने मुंबई-लंदन, मुंबई-एम्सटर्डम-मुंबई और बेंगलुरू-एम्सटर्डम विमानों के लिए भी बुकिंग 18 अप्रैल तक बंद कर दी है। जेट एयरवेज ने इन विमानों के लिए बुकिंग रोकने की पुष्टि करते हुए कहा कि इस कदम का मकसद जिन विमानों को रद्द किया गया था उनके यात्रियों को सहायता देना है।

समस्याओं पर विचार करने के लिए कहा

विमानों को रद्द करने और किराया न लौटाने की सूचना ना होने की यात्रियों की शिकायतों के बाद नागर विमानन सचिव ने शुक्रवार को कहा था कि केंद्र ने जेट एयरवेज से विमानों को रद्द करने के बारे में यात्रियों को 48 घंटे पहले सूचित करने और उनकी समस्याओं पर विचार करने के लिए कहा है।

स्वतंत्र निदेशक राजश्री पाथी ने पद से इस्तीफा दिया

जेट एयरवेज ने रविववार को कहा कि उसके स्वतंत्र निदेशक राजश्री पाथी ने कंपनी छोड़ दी है। उन्होंने समय की कमी तथा दूसरी प्रतिबद्धताओं का हवाला देते हुए 13 नवंबर को पद छोड़ा। जेट एयरवेज ने शेयर बाजारों को दी सूचना में कहा, ‘राजश्री पाथी ने कंपनी के स्वतंत्र निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया है। उनका इस्तीफा 13 अप्रैल से प्रभाव में आया। उन्होंने समय की कमी तथा अन्य मौजूदा प्रतिबद्धताओं का हवाला देते हुए पद छोड़ा है।’ घाटे में चल रही एयरलाइन अब एसबीआई की अगुवाई वाले कर्जदाताओं के समूह के नियंत्रण में है।

जेट के पायलट-इंजीनियर स्पाइस जेट में आधी सैलरी में काम करने को तैयार

स्पाइस जेट ने कर्ज संकट से जूझ रही जेट एयरवेज के इंजीनियरों और पायलटों को नौकरियां ऑफर की हैं। लेकिन इसके अंतर्गत कंपनी ने जेट के कर्मचारियों के सामने उनकी मौजूदा सैलरी से 30-50 प्रतिशत कम सीटीसी पर नौकरी करने का प्रस्ताव रखा है। कुछ कर्मचारियों ने इसमें सहमति जताई है जबकि कुछ को उम्मीद है कि जेट का संकट दूर हो जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

बैडमिंटन : मंत्रालय की गाइडलाइंस के बाद कोर्ट पर उतरे लक्ष्य

नयी दिल्‍ली : स्पोर्ट्स ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (साई) की गाइडलाइंस के बाद बेंगलुरु में पादुकोण-द्रविड़ सेंटर ऑफ एक्सीलेंस अकादमी में बैडमिंटन खिलाड़ियों ने प्रैक्टिस शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर