सत्ता में आये तो कर की दरें कम करने का सिलसिला जारी रखेंगे : जेटली

नयी दिल्ली : वित्त मंत्री अरुण जेटली का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) आम चुनावों के बाद यदि सत्ता में वापस आती है तो वह राजकोषीय सूझबूझ से चलते हुये कर की दरों को कम करने का सिलसिला जारी रखेगी।
जेटली ने यह बातें भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) की सालाना आम सभा को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि ‘‘मैं कराधान नीतियों के संदर्भ में कहूंगा, मैं इसको लेकर इन दो मुद्दों पर पूरी तरह स्पष्ट हूं। कम से कम हमने राजकोषीय मोर्चे पर सावधानी बरती है और दरों को नीचे लाये। यदि हम सत्ता में रहते हैं तो इसी रास्ते पर आगे बढ़ेंगे।’’
वैश्विक रूख कुछ भी रहे, घरेलू उपभोग बढ़ेगा
जेटली ने कहा कि माल एवं सेवा (जीएसटी) परिषद ने उपभोग की कई वस्तुओं को कर की सबसे ऊंची 28 प्रतिशत की दर से घटाकर 12 या 18 प्रतिशत के दायरे में रखा है। हमारे एजेंडा में अगला कदम सीमेंट पर कर की दर घटाना है। उन्होंने कहा कि भारत की वृद्धि दर 7 से 7.5 प्रतिशत के बीच स्थिर है। वैश्विक रूख कुछ भी रहे घरेलू उपभोग बढ़ेगा। उन्होंने कहा, ‘‘हम 7 से 7.5 प्रतिशत की वृद्धि दर तब हासिल कर पा रहे हैं जबकि वैश्विक स्तर पर किसी तरह का समर्थन नहीं है।‘‘
घोषणापत्र में कुछ चीजें सामने आयेंगी
जेटली ने कहा कि पिछले पांच साल के दौरान सरकार ने कर दरें नहीं बढ़ाई हैं और कुछ मामलों में तो कर दायरा बढ़ाया है और कर संग्रह बढ़ा है। वित्त मंत्री ने कहा कि पिछले करीब 20 माह में उपभोग की सभी वस्तुओं पर जीएसटी की दर को 28 प्रतिशत से घटाकर 18 या 12 प्रतिशत किया गया है। सिर्फ सीमेंट पर ऐसा नहीं हो पाया है। कुछ समय की बात है इस पर भी कर की दर घटेगी। यह पूछे जाने पर यदि सरकार सत्ता में वापस आती है तो क्या कदम उठाए जाएंगे, जेटली ने कहा, ‘‘कुछ दिन का इंतजार करें। हमारा घोषणापत्र आने दीजिए। संभवत: उसमें कुछ चीजें सामने आएंगी।’’
गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक ने गुरुवार को चालू वित्त वर्ष के लिए वृद्धि दर के अनुमान को 0.2 प्रतिशत घटाकर 7.2 प्रतिशत कर दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

dhule

महाराष्ट्र : बस और ट्रक के बीच भीषण टक्कर में 15 की मौत ,कई घायल

धुले : महाराष्ट्र के धुले में एक दर्दनाक हादसा होने का मामला सामने आया है। यहां एक बस और ट्रक के बीच हुए भीषण टक्कर आगे पढ़ें »

sahla rashid

कश्मीरःफर्जी दावा मामले में शहला की सुप्रीम कोर्ट में शिकायत,सेना ने तथ्यहीन बताया

नई दिल्ली : जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) की पूर्व छात्र नेता और पूर्व छात्र संघ की उपाध्यक्ष शेहला रशीद द्वारा कश्मीर के मौजूदा हालातों आगे पढ़ें »

ऊपर