जलमार्ग से इस देश से व्यापार हुआ शुरू, कोलकाता के बाद वाराणसी से भी जोड़ा जाएगा

नई दिल्ली : बांग्लादेश के साथ हुए करार के कारण भारत सरकार ने नार्थ ईस्ट में दो नए पोर्ट चटोग्राम और मोंगला पोर्ट या बंदरगाह चालू कर दिए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के बीच हाल में हुए समझौते के कारण कोलकाता और नार्थ ईस्ट स्थित त्रिपुरा के बीच जल मार्ग के जरिये माल ढुलाई और क्रूज टूरिज़म संभव हुआ है।

इसके बाद पश्चिम बंगाल में चटोग्राम और मोंगला पोर्ट से पहले कोलकाता से त्रिपुरा की दूरी सड़क मार्ग से करीब 2000 किमी की थी, लेकिन अब ये पोर्ट चालू होने के बाद दूरी घटकर महज 250 किमी रह जाएगी। कोलकाता से चटोग्राम पोर्ट और फिर चटोग्राम पोर्ट से जल मार्ग के जरिये त्रिपुरा के नज़दीक श्रीमंतपुर पोर्ट तक की दूरी अब सिर्फ 600 किमी की ही रह जायेगी। चटोग्राम और मोंगला पोर्ट को लेकर भारत सरकार ने बांग्लादेश सरकार के साथ स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर करार किया है। यह इसलिए कि ये जलमार्ग बांग्लादेश होते हुए नार्थ ईस्ट को भारत से जोड़ता है।

इस जलमार्ग के विकसित होने से कई फायदे हुए हैं, एक तो मालभाड़े की ढुलाई पहले के मुकाबले काफी कम समय और लागत में संभव हो पाएगी। उसके अलावा नार्थ ईस्ट में इंफ्रा बढ़ावा के लिए ज़रूरी इक्विपमेंट की सप्लाई भी जलमार्ग के जरिये आसान हो सकेगी। सरकार जल्द ही इस जल मार्ग पर क्रूज टूरिज्म भी शुरू करेगी। शिपिंग मंत्रालय ने हाल ही में एक बयान में कहा कि अक्टूबर के अंत तक कोलकाता से ढाका और ढाका से नार्थ ईस्ट जल मार्ग पर क्रूज चलाया जाएगा, यह वाराणसी तक भी चलाने की योजना है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भारत-पाक क्रिकेट संबंध दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों की मंजूरी से जुड़ा विषय : गांगुली

भारत-पाकिस्तान के बीच पिछली द्विपक्षीय सीरीज 2012 में हुई थी नयी दिल्‍ली : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के भावी अध्यक्ष सौरव गांगुली ने भारत- पाकिस्तान आगे पढ़ें »

डेनमार्क ओपन : सिंधू, समीर और प्रणीत प्री क्वार्टरफाइनल में हारे

ओडेंसे : विश्व चैंपियन भारत की पीवी सिंधू,समीर वर्मा और बी साई प्रणीत गुरुवार को डेनमार्क ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट के प्री क्वार्टरफाइनल में हारकर बाहर आगे पढ़ें »

ऊपर