छुट्टियां और होंगी मजेदार जब करा लेंगे ट्रेवल इंश्योरेंस

नई दिल्ली : छुट्टियां मनाने के लिए हम देश विदेश घूमते हैं, लेकिन इस दौरान अगर कोई मेडिकल इमरजेंसी या कोई भी अन्य परेशानी आ जाए तो मुश्किलें बढ़ जाती हैं. खासकर विदेश दौरे पर जाने से पहले टूरिज्म पॉलिसी जरूरी होता है, जिसमें स्वास्थ्य पॉलिसी का प्रावधान होता है और टूरिज्म पॉलिसी आपकी यात्रा से जुड़ी सभी जरूरतें पूरी करता है.

टूरिज्म पॉलिसी मुख्य रूप से यात्रा के दौरान होने वाले चिकित्सा खर्च कवर करने के लिए उपयोगी होता है. जिन देशों में अस्पतालों का खर्च सस्ता है, वहां भी बीमा कंपनी द्वारा प्रमाणित अस्पतालों में ही जाना बेहतर होता है. यात्रा बीमा में दुर्घटना, कैशलेस हॉस्पिटलाइजेशन और डेंटल केयर भी कवर किया जाता है. एयरलाइंस द्वारा पेश की जाने वाली यात्रा सुरक्षा सिर्फ सामान खोने और फ्लाइट रद्द होने पर मुआवजा देती है, लेकिन ये मेडिकल पॉलिसी नहीं देती. हालांकि अन्य कई पॉलिसी उपलब्ध हैं जो मेडिकल समस्याएं और आपातकालीन निकास जैसी स्थितियां भी कवर करती हैं. टूरिज्म पॉलिसी खरीदने से पहले पता करें कि क्या उसमें किसी मेडिकल इमरजेंसी के दौरान अस्पताल का खर्च कवर होता है या नहीं.

कुछ पॉलिसी किसी एडवेंचर स्पोर्ट में चोट लगने पर हुए चिकित्सा खर्च को भी कवर करती हैं. विदेश घूमने जाने वाले लोगों में अब मनोरंजन गतिविधियों के लिए बीमा सुरक्षा की मांग बढ़ने लगी है. ऐसे में बीमा कंपनियां एडवेंचर स्पोर्ट्स को कवर करने वाली पॉलिसी पेश करने लगी हैं. यात्रा के दौरान अपनी बीमा पॉलिसी का नंबर भी अपने साथ रखें. बीमा कंपनियां इस बात के लिए पूरी कोशिश करती हैं कि उनके ग्राहक आसानी से संपर्क कर सकें, लेकिन बीमा कंपनी को कोई अन्य वैकल्पिक नंबर भी दे दें ताकि मुश्किल वक्त में बीमा कंपनी आपको आसानी से संपर्क कर सके.

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैच फीट के लिए चार चरण में अभ्यास करेंगे भारतीय क्रिकेटर : कोच श्रीधर

नयी दिल्ली : भारत के क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर का कहना है कि देश के शीर्ष क्रिकेटरों के लिए चार चरण का अभ्यास कार्यक्रम तैयार आगे पढ़ें »

नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद करे आईसीसी : सैमी

नयी दिल्ली : वेस्टइंडीज के पूर्व टी-20 कप्तान डेरेन सैमी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और अन्य क्रिकेट बोर्डों से नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद आगे पढ़ें »

ऊपर