रक्षा व्यय में और वृद्धि करेगा चीन

बीजिंगः रक्षा पर अमेरिका के बाद सबसे अधिक खर्च करने वाले चीन ने इस मद में भारी आवंटन का बचाव किया। साथ ही उसने रक्षा बजट को इस वर्ष और अधिक बढ़ाये जाने का इशारा किया। चीन ने कहा कि उसने किसी अन्य देश के लिए कोई ‘खतरा’ उत्पन्न नहीं किया है। एनपीसी के प्रवक्ता झांग येसुई ने मीडिया से बातचीत में संकेत दिया कि चीन रक्षा पर भारी खर्च जारी रखेगा। उन्होंने कहा कि देश के रक्षा व्यय में बढ़ोत्तरी कई अन्य ‘प्रमुख विकासशील देशों’ की तुलना में कम है। झांग ने कहा, ‘कोई देश किसी अन्य देश के लिए सैन्य खतरा है या नहीं, इसका आकलन रक्षा खर्च में बढ़ोत्तरी से नहीं बल्कि उसकी विदेश और राष्ट्रीय रक्षा नीति के आधार पर किया जाना चाहिए।’
भारत की तुलना में है तीन गुना अधिक
पिछले साल अपने रक्षा बजट में चीन ने 8.1 प्रतिशत तक का इजाफा किया था। इससे रक्षा क्षेत्र पर उसका व्यय बढ़कर 175 अरब डॉलर हो गया, जो भारत की तुलना में तीन गुना अधिक है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मार्ग एक्सक्लूसिव :आर्थिक पैकेज से हर वर्ग को राहत, न अन्न की कमी, न धन की : ठाकुर

 विशेष संवाददाता, कोलकाता : कोविड-19 संकट के आघात से देश और देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए केंद्र सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। आगे पढ़ें »

भारत के साथ सीमा विवाद को उचित ढंग से सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध : चीन

बीजिंग : भारत और चीन के वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के बीच शनिवार को होने जा रही अहम वार्ता से पहले चीन ने शुक्रवार को कहा आगे पढ़ें »

फायदेमंद है संतुलित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट का सेवन, अत्यधिक मात्रा पहुंचा सकता है नुकसान

भाजपा नेत्री सोनाली फोगाट ने मार्केट कमेटी के अफसर को मारा थप्पड़

javdekar

भारत जलवायु प्रतिबद्धताओं पर खरे उतरने वाले देशों में शामिल है: प्रकाश जावडेकर

मरकज मामले में सीबीआई जांच की जरूरत नहीं: केंद्र

trump

प्रदर्शनकारियों पर हमले के मामले में ट्रंप पर मुकदमा

लॉकडाउन के दौरान इंस्टाग्राम से कमाई करने वाले खिलाड़ियों की सूची में कोहली एकमात्र क्रिकेटर

केंद्र और राज्यों को प्रवासियों को उनके घर पहुंचाने के लिए 15 दिन और : सुप्रीम कोर्ट

गर्मियों में तरबूज खाने के हैं कई फायदें और नुकसान, पढ़ें

क्या छूने से कोरोना वायरस संक्रमण फैल सकता है : कोर्ट

ऊपर